होम देश राधा अष्टमी व्रत पापों से मुक्ति दिलाता है, धन की समस्या भी...

राधा अष्टमी व्रत पापों से मुक्ति दिलाता है, धन की समस्या भी होती है दूर


राधा अष्टमी व्रत पापों से मुक्ति दिलाता है, हिंदू धर्म में मान्यता है कि राधा रानी की पूजा के बिना श्री कृष्ण की पूजा अधूरी रहती है। इसलिए जब-जब श्री कृष्ण के नाम का स्मरण किया जाता है, तब-तब राधा रानी का नाम अवश्य लिया जाता है। अगर आपको लीलाधर कृष्ण और राधा रानी का विग्रह स्वरुप देखना है तो पूरी दुनिया में वृन्दावन के राधावल्लभ मंदिर दर्शनों के लिए जरुर जाइये। इस मंदिर का महत्त्व और महात्म्य दोनों अलौकिक है।

राधा अष्टमी व्रत के बिना कृष्ण जन्माष्टमी व्रत का फल नहीं मिलता

मान्यताओं के अनुसार राधा अष्टमी व्रत के बिना कृष्ण जन्माष्टमी व्रत का फल नहीं प्राप्त होता है। ऐसे में राधा अष्टमी के व्रत का महत्व कृष्ण जन्माष्टमी के समान महत्वपूर्ण हो जाता है। राधा अष्टमी व्रत भी राधा रानी के जन्मोत्सव पर रखा जाता है, जन्माष्टमी के पर्व के 15 दिन बाद राधा अष्टमी का पर्व मनाया जाता है। इस दिन व्रत रखकर भगवान श्रीकृष्ण और राधा की विशेष पूजा की जाती है। पंचांग के अनुसार राधा अष्टमी का पर्व 14 सितंबर 2021, मंगलवार को भाद्रपद मास की शुक्ल पक्ष की अष्टमी की तिथि को मनाया जाएगा। भादो शुक्ल पक्ष की अष्टमी की तिथि को राधा अष्टमी भी कहा जाता है।

राधा अष्टमी पर बन रहा है विशेष शुभ योग

14 सितंबर, मंगलवार को पंचांग के अनुसार ज्येष्ठा नक्षत्र रहेगा। ज्येष्ठा नक्षत्र इस दिन प्रात: 07 बजकर 05 मिनट तक रहेगा, इसके बाद मूल नक्षत्र आरंभ होगा। राधा अष्टमी पर विशेष शुभ योग भी बन रहा है। इस योग को आयुष्मान योग का निर्माण हो रहा है। यानि राधा अष्टमी का व्रत और पूजा इसी योग में की जाएगी।राधा अष्टमी व्रत का महत्वराधा अष्टमी का व्रत विशेष पुण्य प्रदान करने वाला माना गया है। इस व्रत को सभी प्रकार के कष्टों को दूर करने वाला बताया गया है। सुहागिन स्त्रियां इस दिन व्रत रखकर राधा जी की विशेष पूजा करती हैं। इस दिन पूजा करने से अखंड सौभाग्य की प्राप्ति होती है।

राधा अष्टमी का पर्व धन की समस्या करता है दूर

राधा अष्टमी का पर्व जीवन में आने वाली धन की समस्या की भी दूर करता है। राधा जी की इस दिन पूजा करने भगवान श्रीकृष्ण का भी आशीर्वाद प्राप्त होता है। इस व्रत को रखने से जीवन में सुख-समृद्धि बनी रहती है। राधा रानी आप सभी के जीवन में सुख संवृद्धि का आशीर्वाद दे, यही हमारी कामना है जय श्री राधे कृष्णा।

ये भी पढ़ें

Ganesh Chaturthi 2021: इस राज्य में है गणेश की 1100 साल पुरानी प्रतिमा, 11वीं सदी में हुई थी स्थापना

Ganesh Chaturthi 2021: 1893 में गणेश उत्सव की हुई थी शुरुआत, पहली बार शूद्रों ने किया था बप्पा का दर्शन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

T20 World Cup : Pakistan ने लिया बदला, New Zealand को 5 विकेट से हराया

T20 World Cup 2021 के सुपर 12 के मुकाबले में Pakistan ने New Zeeland को 5 विकेट से हराया। इस जीत के साथ पाकिस्तान ने बदला भी ले लिया। पिछले महीने में न्यूजीलैंड की टीम पाकिस्तान से बिना मैच खेले वापस लौट गई थी और आज पाकिस्तान ने न्यूज़ीलैंड को हराकर पाकिस्तान ने अपना बदला पूरा कर लिया। पाकिस्तान ने पहले मैच में भारत को 10 विकेटों से हराया था और इस मैच में न्यूजीलैंड को 5 विकेटों से हराकर बाकी टीमों को बता दिया कि वो भी किसी से कम नहीं है। न्यूज़ीलैंड ने पहले खेलते हुए 8 विकेट के नुकसान पर 134 रन बनाए। जवाब में लक्ष्य का पीछा करने उतरी पाकिस्तान ने 5 विकेट खोकर मुकाबले को जीत लिया। पाकिस्तान के हारिस रउफ ने शानदार गेंदबाजी करते हुए 4 विकेट लिए।

दिल्ली हाईकोर्ट ने कोरोना महामारी के आधार पर रिहा कैदियों की जमानत बढ़ाने से किया इंकार, पढ़ें 26 अक्टूबर की सभी बड़ी खबरें…

APN Live Update: दिल्ली हाई कोर्ट ने कोरोना महामारी के आधार पर जमानत पर रिहा किए गए विचाराधीन कैदियों की अंतरिम जमानत...

Sameer Wankhede के खिलाफ नवाब मलिक द्वारा भेजे गए पत्र पर नहीं होगी कोई कार्रवाई: NCB

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो का कहना है कि महाराष्ट्र के मंत्री और एनसीपी नेता नवाब मलिक द्वारा एनसीबी के महानिदेशक को भेजे गए गुमनाम पत्र पर कोई कार्रवाई शुरू नहीं की जाएगी। पत्र में एनसीबी मुंबई के क्षेत्रीय निदेशक समीर वानखेड़े के खिलाफ आरोप लगाए गए थे।

Sports News Updates : New Zealand से Pakistan लेगी बदला, पढ़ें खेल से जुड़ी दिनभर की सभी बड़ी खबरें

T20 World Cup 2021 में आज का मुकाबला Pakistan और New Zealand के बीच खेला जा रहा है। पाकिस्तान ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला लिया। पाकिस्तान आज जीतकर न्यूजीलैंड से बदला भी लेना चाहेगी। न्यूजीलैंड के बिना खेले लौट जाने के बाद पाकिस्तान पर बहुत दबाव पड़ा था। जिसका बदला आज पाकिस्तान की टीम लेना चाहेगी।