Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

कर्नाटक का सियासी तापमान लगातार बढ़ रहा है…कांग्रेस से लेकर बीजेपी ने अपने तरकश में तीर कस लिए हैं…आज दोनों ही दल के मुखिया कर्नाटक के दौर पर रहेंगे…बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह बागलाकोटे और हावेरी का दौरा करेंगे…शाह हावेड़ी जिले के कागीनील में पिछड़ा वर्ग के सम्मेलन में शामिल होंगे…अमित शाह के साथ लिंगायत समुदाय के बड़े नेता और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी इस रैली में शामिल होंगे…

वहीं कांग्रेस के सामने कर्नाटक में बीजेपी को मात देकर अपना ‘हाथ’ सलामत रखने की बड़ी चुनौती है…कांग्रेस जोरशोर से तैयारियों में जुटी है…पहले करीब 10 दिन कर्नाटक में गुजार चुके कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आज से फिर कर्नाटक के दो दौरों पर जा रहे हैं…पहला दौरा आज से कल तक यानि दो दिवसीय होगा वहीं दूसरा दौरा 7-8 अप्रैल को होना तय है…जबकि, अगले सप्ताह दिल्ली में उम्मीदवारों को लेकर मंथन का दौर शुरु होगा…कर्नाटक विधानसभा चुनावों को लेकर कांग्रेस कितनी गंभीर है…इस बात अंदाजा इससे ही लगाया जा सकता है कि, राहुल गांधी यहां 23 से 24 दिन तक कड़ी मेहनत करने वाले हैं…राहुल यहां कई रोड शो और रैलियां कर कांग्रेस की वापसी के लिए जी-तोड़ पसीना बहाते दिखेंगे…इस दौरान वह खासतौर पर बेंगलुरु रीजन पर फोकस करेंगे…राहुल गांधी अपने चुनावी कैंपेन की शुरुआत शिमोगा से करेंगे…जिसे बीजेपी के सीएम कैंडिडेट और लिंगायत समुदाय के बड़े नेता बीएस येदियुरप्पा का गढ़ माना जाता है…इसके अलावा वह चित्रदुर्ग भी जाएंगे…बेंगलुरु में एक बड़ी जनसभा के बाद कांग्रेस अध्यक्ष के दो फेज के दौरा का समापन होगा…अब राहुल  बीजेपी-जेडीएस और बीएसपी से मुकाबले के लिए कांग्रेस के जिताऊ उम्मीदवारों पर गहन मंथन कर रहे हैं…हर सीट के हिसाब से उम्मीदवार उतारने की तैयारी है…कर्नाटक को लेकर आगामी 10 और 11 तारीख को दिल्ली में राहुल गांधी की अध्यक्षता में केंद्रीय चुनाव समिति की मीटिंग होनी है…इससे पहले स्क्रीनिंग कमेटी  उम्मीदवारों की सूची को अंतिम रुप दे सकती है…

राहुल ने कर्नाटक जीतने की बेहद सधी रणनीति बनाई है…वह राज्य के लिंगायत समुदाय के वर्चस्व वाले 6 जिलों में यात्रा कर चुके हैं…जिसमें होसपेट स्थित हुलीगामा (शक्ति) मंदिर, कोप्पल में गवी सिद्धेश्वरा मठ और बसावाकल्याण स्थित अनुभवा मंटपा शामिल हैं…

कर्नाटक में गुजरात की तरह राहुल गांधी सिर्फ ‘सॉफ्ट हिंदुत्‍व’ की राजनीति ही नहीं कर रहे हैं, बल्कि धर्मनिरपेक्ष कार्ड खेल रहे हैं…यहां भी वह मंदिर और मस्जिद दौरे के बहाने हिंदू-मुस्लिम दोनों को साधने में जुटे हुए हैं…रायचूर और गुलबर्गा दौरे के दौरान मंदिर में पूजा भी की और दरगाह जाकर चादर भी चढ़ाई…12 फीसदी वाली मुस्लिम आबादी को रिझाने के पूरे जतन किए हैं…

राहुल के मिशन कर्नाटक में कोस्टल पॉलिटिक्स भी देखने को मिल रही है….उन्होंने अपने मिशन कर्नाटक की शुरुआत कांग्रेस की मजबूत पकड़ वाले हैदराबाद-कर्नाटक क्षेत्र से की…इस इलाके की कुल 40 सीटों में से 23 पर कांग्रेस का कब्जा है…

राहुल गांधी कर्नाटक यात्रा के दौरान राज्य के किसानों और आदिवासियों के बीच भी गए. इतना ही नहीं उन्होंने व्यापारियों और पेशेवरों से मुलाकात की है,,,और बेरोजगारी पर पीएम मोदी  पर  करारा हमला किया है…

राहुल गांधी ‘जन आशीर्वाद यात्रा’ में भी हिस्सा ले सकते हैं…जो 8 अप्रैल को बेंगलुरु में समाप्त होगी…राहुल गांधी ने पिछले दिनों कर्नाटक में काफी दौरे किए हैं…उनकी अगुआई में चल रही जन आशीर्वाद यात्रा को जिस तरह से लोगों का सपोर्ट मिला है, उससे कांग्रेसी बेहद खुश है…दूसरे चरण में राहुल गांधी सिर्फ रैलियों और रोड शो में हिस्सा लेंगे…सीटों पर उम्मीदवारों के ऐलान के बाद राहुल गांधी प्रचार के दूसरे चरण में उतरेंगे…सूत्रों के मुताबिक  प्रचार के दूसरे राउंड में राहुल गांधी 8 से 9 दिन कर्नाटक में गुजार सकते हैं…इस दौरान वह करीब 20 जनसभाओं को संबोधित करेंगे…पिछले तीन चरण में गुलबर्गा, मेंगलुरू और मैसूर रीजन में हुए राहुल के दौरे काफी सफल रहे हैं…लोगों में राहुल गांधी को लेकर खासा उत्साह दिखाई दिया…कांग्रेस युवराज राहुल गांधी 40 साल से नीचे के लोगों में बेहद लोकप्रिय दिखाई दे रहे हैं…ऐसे में कांग्रेस को लंबे समय से युवा वोटों का वनवास खत्म होता दिख रहा है…उसे सूबे में साख और सामाजिक-आर्थिक रुप से मजबूत लिंगायत समुदाय के युवाओं के मत मिलने का पूरा भरोसा है…ऐसा हुआ तो एक बार फिर कांग्रेस के हाथ कर्नाटक का आना तय है…

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.