Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

राजनीति में प्रियंका गांधी वाड्रा की एंट्री को लेकर लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की नेतृत्व क्षमता पर सवाल उठाया। गुरुवार को अपने संसदीय क्षेत्र इंदौर पहुंची सुमित्रा महाजन ने कहा कि राहुल ने एक तरह से स्वीकार कर लिया है कि राजनीति करना उनके अकेले के बस की बात नहीं है। उन्होंने कहा, ‘प्रियंका अच्छी महिला हैं। पूर्वी उत्तरप्रदेश की प्रभारी कांग्रेस महासचिव के रूप में उनकी नियुक्ति से यह बात भी सामने आती है कि राहुल ने एक प्रकार से स्वीकार कर लिया कि राजनीति करना उनके अकेले के बस की बात नहीं है। यह बहुत अच्छी बात है कि राहुल को समझ आ गया कि वह अकेले राजनीति नहीं कर सकते। इसलिए उन्होंने बहन प्रियंका को अपनी मदद के लिए बुला लिया।” ‘नेतृत्व की ताकत रखने वाले को आगे आने का मिले मौका’

सुमित्रा महाजन ने आगे कहा, ‘मैं कांग्रेस के परिवारवाद के झगड़े में नहीं पड़ती। यह विषय कांग्रेस के लोग ही जानें लेकिन मैं यह जरूर कहूंगी कि जिस व्यक्ति में नेतृत्व की ताकत है, उसे आगे आने का मौका दिया जाना चाहिए।’ उन्होंने मध्य प्रदेश से ताल्लुक रखने वाले वरिष्ठ कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को पश्चिमी उत्तर प्रदेश का प्रभारी कांग्रेस महासचिव बनाए जाने पर बधाई दी। लोकसभा अध्यक्ष ने कहा, ‘पश्चिमी उत्तर प्रदेश का प्रभारी कांग्रेस महासचिव बनाकर सिंधिया को बड़ी जिम्मेदारी दी गई है। मैं उनका अभिनंदन करती हूं, क्योंकि उन्हें यह जिम्मेदारी मिलना मध्य प्रदेश के लिए गौरव की बात है।’ बता दें कि सुमित्रा महाजन 1989 से लगातार मध्य प्रदेश के इंदौर लोकसभा क्षेत्र की नुमाइंदगी कर रही हैं, जबकि सिंधिया सूबे की गुना सीट से सांसद हैं।

इससे पहले भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने प्रियंका को पूर्वांचल का प्रभारी बनाए जाने को परिवाद का राज्याभिषेक बताया। उन्होंने कहा था कि यह राहुल गांधी की नाकामी की सार्वजनिक घोषणा है। नए भारत में आखिर कबतक परिवारवाद चलेगा? हमारे लिए पार्टी ही परिवार है जबकि उनके लिए परिवार ही पार्टी है। वहीं उत्तरप्रदेश में भाजपा के प्रभारी और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा ने कहा था कि आधिकारिक रूप से प्रियंका गांधी को महासचिव बनाया दिया गया है, हर किसी को पता है यह परिवार की पार्टी है। यह राहुल गांधी की नाकामी का पहला एलान है। उन्हें यह बताना चाहिए कि परिवारवादी सोच पर उनकी क्या राय है?

कांग्रेस ने सुमित्रा महाजन पर किया पलटवार

सुमित्रा महाजन के बयान पर पलटवार करते हुए कांग्रेस ने कहा कि प्रियंका की एंट्री से बीजेपी में भगदड़ की स्थिति है। कांग्रेस ने यह भी कहा कि सुमित्रा महाजन को भाजपा के अंदरूनी मामलों को देखना चाहिए और उनकी नसीहत के बगैर कांग्रेस अच्छी तरह चल रही है और चलती रहेगी। कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने सुमित्रा महाजन के बयान से जुड़े सवाल पर कहा, ‘हम बहुत विनम्रता से लोकसभा की अध्यक्षा जी को ये निदेवन करना चाहते हैं कि भारतीय जनता पार्टी के जो अंदरुनी मामले हैं, वह उन पर ध्यान दें। जहां तक कांग्रेस पार्टी का सवाल है तो कांग्रेस उनकी नसीहत के बगैर भी बहुत अच्छी तरह से चल रही थी और बहुत अच्छी तरह से चलती रहेगी।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.