होम देश Rahul Gandhi ने की NEET परीक्षा को स्थगित करने की मांग, कहा...

Rahul Gandhi ने की NEET परीक्षा को स्थगित करने की मांग, कहा सरकार आंखें मूंदे है

Congress के पूर्व अध्यक्ष Rahul Gandhi ने मंगलवार को राष्ट्रीय पात्रता-सह-प्रवेश परीक्षा (NEET) को स्थगित करने की मांग कर रहे छात्रों का समर्थन किया है। वायनाड के सांसद ने Twitter पर आरोप लगाया कि सरकार छात्रों की परेशानी देख नहीं रही है और वो आंखें मूंदे है। उन्होंने सरकार से छात्रों को परीक्षा में निष्‍पक्ष मौका देने का आग्रह किया। राहुल की यह टिप्पणी Supreme Court द्वारा 12 सितंबर को होने वाली NEET-UG परीक्षा को स्थगित करने से इनकार करने के एक दिन बाद आई है, Supreme Court ने कहा था कि वह प्रक्रिया में हस्तक्षेप नहीं करना चाहता है और इसे पुनर्निर्धारित करना बहुत अनुचित होगा।

12 सितंबर के आसपास दूसरी परीक्षाएं भी होनी है

याचिकाकर्ताओं की ओर से पेश हुए अधिवक्ता शोएब आलम (Shoeb Alam) ने तर्क दिया कि NEET 2021 को स्थगित कर दिया जाए क्योंकि 12 सितंबर के आसपास कई अन्य परीक्षाएं भी हैं। उन्होंने अदालत को यह भी सूचित किया था कि लगभग 25,000 छात्र कक्षा 12 के लिए या तो सुधार या कंपार्टमेंट परीक्षाओं को दे रहे हैं।

पिछले साल 13.66 लाख छात्र परीक्षा में बैठे थे

कोविड -19 प्रोटोकॉल लागू होने के साथ NEET पिछले साल 13 सितंबर को आयोजित किया गया था, जिसमें कुल 13.66 लाख उम्मीदवारों ने परीक्षा दी थी, जिनमें से लगभग 7.7 लाख ने क्वालिफाई किया था। इस साल स्नातकोत्तर (Postgraduate) के लिए राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा 11 सितंबर को जबकि स्नातक (Undergraduate) के लिए 12 सितंबर को होगी।

NEET-JEE 2020 की परीक्षा कराने पर राहुल ने सरकार पर हमला किया था

पिछले साल भी राहुल गांधी ने NEET-JEE की परीक्षा आयोजित करने के केंद्र के फैसले के खिलाफ थे, उस समय भारत में रोजना 85,000 से अधिक Covid के मामले सामने आ रहे थे। उन्होंने अपने ट्वीट में सरकार पर हमला किया था कि सरकार की नाकामियों के चलते छात्रों की सुरक्षा से समझौता नहीं किया जा सकता। NEET 2020 पर कांग्रेस के विरोध के बाद, अन्य प्रमुख विपक्षी दलों ने कांग्रेस के साथ दिया था और परीक्षा आयोजित करने का विरोध किया था। राहुल के अलावा, कांग्रेस पार्टी की अध्‍यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने भी सरकार से छात्रों और उनकी चिंताओं को सुनने के लिए कहा था।

यह भी पढ़ें :

केंद्र पर निशाना साधने के चक्कर में Rahul Gandhi से हुई गलती, शेयर की Kisan Andolan की पुरानी तस्वीर

Rahul Gandhi दो दिन के जम्मू दौेरेे पर जाएंगे, वैष्णो देवी मंदिर भी जा सकते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

South Africa में मिले कोरोना के नए वेरिएंट को WHO ने Omicorn नाम दिया, यूरोपीय देशों ने रद्द की Flights

दक्षिण अफ्रीका (South Africa) के बोत्सवाना (Botswana) में कोरोना के रुप B.1.1529 मिले नए वेरिएंट को काफी खतरनाक बाताय जा रहा है। जानकारों का कहना है कि यह अब तक का सबसे खतरनाक वेरिएंट है। अब इसे विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) ने भी वेरिएंट ऑफ कंसर्न घोषित कर दिया है। डब्ल्यूएचओ ने इस वेरिएंट को Omicorn नाम दिया है।

Siddharth Shukla की बर्थ एनिवर्सरी पर रिलीज होगा एक्टर का पहला रैप सॉन्ग, मौत से पहले किया था रिकॉर्ड

जैसे-जैसे अभिनेता सिद्धार्थ शुक्ला (Siddharth Shukla) का बर्थ डे नजदीक आ रहा है, वैसे-वैसे फैंस उनकी यादों को याद करने के लिए सोशल मीडिया का सहारा ले रहे हैं। बिग बॉस 13 के सीन से लेकर उनके टीवी शो तक, प्रशंसक स्टार को याद करने और उनके जन्मदिन के महीने को खास बनाने के लिए काफी कुछ सोच रहे हैं।

Katni:Devanand Tripathi ने किया जिले का नाम रोशन, ICAR की प्रवेश परीक्षा में प्राप्त किया 5वां स्थान

Katni: ICAR की प्रवेश परीक्षा में देवानंद त्रिपाठी (Devanand Tripathi) ने पूरे देश में 5वां स्थान प्राप्त कर जिले का नाम रोशन किया है। मूल रूप से कटनी के रजरवारा गांव के रहने वाले देवानंद अब दुनिया के सबसे प्रतिष्ठित एग्रीकल्चर संस्थान में शिक्षा प्राप्त करेंगे। देवानंद ने बीएससी एग्रीकल्चर में अपना ग्रेजुएशन जबलपुर के जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय ( Jawaharlal Nehru Krishi Vishwavidyalaya) से किया है। जेएनकेवी में प्रवेश पाने के लिए भी देवानंद ने पीएटी की परीक्षा में भी उत्कृष्ट प्रदर्शन किया था। प्रवेश परीक्षा में शानदार प्रदर्शन करके उत्साहित देवानंद ने कहा है कि वो कृषि के क्षेत्र में ही आगे काम करना चाहते हैं और अपने अनुसंधान से भारत को कृषि के क्षेत्र में और मजबूत बनाना चाहते हैं।

Madhya Pradesh: सीएम Shivraj Singh Chouhan ने मिंटो हॉल का नाम Kushabhau Thackeray रखने का ऐलान किया, राजनीतिक हलकों में हो रहा है विरोध

Madhya Pradesh में इस समय शिवराज सिंह चौहान की सरकार ने 'नाम बदलो अभियान' चलाया है। बीते 15 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कायाकल्प किये गये हबीबगंज रेलवे स्टेशन का नाम रानी कमलापति रेलवे स्टेशन किया। उसके बाद शिवराज सिंह ने रेलवे को पत्र लिखकर इंदौर के पातलपानी रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर टंट्या मामा रेलवे स्टेशन रखने को कहा औऱ अब शुक्रवार को सीएम शिवराज सिंह ने घोषणा की कि अब मिंटो हॉल का नाम स्व. कुशाभाऊ ठाकरे हॉल किया जाता है।