Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज मध्यप्रदेश के उज्जैन स्थित महाकालेश्वर मंदिर में विशेष पूजा-अर्चना के साथ अपने दो दिवसीय दौरे की शुरुआत की।

गांधी मंदिर प्रबंधन के नियमों के अनुसार पारंपरिक धोती पहन कर मंदिर पहुंचे। उन्हें गर्भगृह में पुजारियों ने अभिषेक कराकर विधि-विधान के साथ विशेष पूजा कराई।  इस दौरान उनके साथ पार्टी की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष कमलनाथ, चुनाव प्रचार अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया और पार्टी के प्रदेश प्रभारी दीपक बावरिया भी मौजूद थे।

महाकालेश्वर मंदिर देश के 12 ज्योतिर्लिंगों में प्रमुख है। यहां देश के लगभग सभी बड़े नेता दर्शन करने आते हैं।गांधी ने इसके पहले अपने मध्यप्रदेश दौरों की शुरुआत दतिया की प्रसिद्ध पीतांबरा पीठ, सतना के कामतानाथ मंदिर में दर्शन के साथ की थी। उनके जबलपुर दौरे की शुरुआत नर्मदा नदी की आरती और भोपाल दौरे की शुरुआत मंत्रोच्चार के साथ हुई थी।

राहुल ने उठाए क्षिप्रा की सफाई पर सवाल

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज मध्यप्रदेश के उज्जैन स्थित क्षिप्रा नदी की सफाई पर सवाल उठाते हुआ कहा कि इसका पानी अगर किसी मंत्री को पिला दिया जाए तो वह बेहोश हो जाए। गांधी आज यहां अपने दो दिवसीय दौरे के दौरान एक आमसभा को संबोधित कर रहे थे। अपने संबोधन की शुरुआत में उन्होंने सवाल उठाते हुए कहा कि 400 करोड़ रुपए क्षिप्रा की सफाई में लगा दिए गए, क्या नदी साफ हो गई। इसी दौरान स्टेज पर एक बोतल में पानी लाया गया, जिसे दिखाते हुए उन्होंने कहा कि ये क्षिप्रा का पानी है, अगर ये किसी मंत्री को पिला दिया जाए, तो वह बेहोश ही हो जाए।

उन्होंने सत्तारूढ भारतीय जनता पार्टी पर आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा सरकार ने नदी का पानी चुरा लिया और महाकुंभ में भी करोड़ों रुपए का भ्रष्टाचार हुआ। उन्होंने आरोप लगाया कि मध्यप्रदेश के लोगों का कोई भी काम हो, भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के लोग जनता की जेब में से पैसे निकाल लेंगे।

गांधी ने कहा कि उज्जैन की टेक्सटाइल इंडस्ट्री को चीन से मुकाबला करना था, लेकिन उसे बंद कर दिया गया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार आने पर इसे दोबारा चालू किया जाएगा।

उन्होंने एक बार फिर दोहराया कि कांग्रेस की सरकार बनने पर 10 दिन में किसानों का कर्ज माफ किया जाएगा। इस दौरान उन्होंने संकेतों में कहा कि अगर कांग्रेस का मुख्यमंत्री इस काम में बहाने बनाएगा तो पार्टी का दूसरा मुख्यमंत्री इस काम को करेगा।

किसानों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि यहां की सब्जियां यूरोप, अमेरिका और चीन जैसे देशों में भेजी जाएंगी। कांग्रेस की सरकार बनने पर किसानों को महसूस होगा कि 15 साल बाद उनकी सरकार लौट कर आई है।

पार्टी के कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाते हुए राहुल गांधी ने कहा कि 15 साल से पार्टी के कार्यकर्ता भाजपा के भ्रष्टाचार से लड़ रहे हैं, उन्होंने लाठियां खाई हैं। मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार किसानों, छोटे व्यापारियों, मजदूरों के साथ कार्यकर्ताओं की भी सरकार होगी।

डरते हैं पीएम मोदी, राफेल की सीबीआई जांच से देश जान जाएगा सच : राहुल गांधी

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज राफेल मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सीबीआई जांच से डरने का आरोप लगाते हुए कहा कि मोदी को आशंका है कि ऐसा होने पर देश को सच्चाई पता चल जाएगी। उन्होंने इसी संदर्भ में कहा कि इसी डर से कांपते हुए आधी रात को सीबीआई के प्रमुख को पद से हटा दिया गया। गांधी आज मध्यप्रदेश के उज्जैन में एक आमसभा को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने एक स्थानीय महिला का उदाहरण देते हुए भी प्रधानमंत्री और प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर जमकर निशाने साधे। गांधी ने राफेल मामले में भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी नेताओं अरुण शौरी और यशवंत सिन्हा ने भी राफेल मामले में सवाल उठाए, सीबीआई के निदेशक आलोक वर्मा मामले की जांच शुरु कर रहे थे, इस जांच से सबको पता लग जाता कि देश के ‘चौकीदार’ ने क्या किया, इसी डर से प्रधानमंत्री कांप गए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री डरते हैं कि जिस दिन सीबीआई ने राफेल जांच शुरु की, उसी दिन देश को असलियत पता लग जाएगी।

इसके पहले अपने संबोधन की शुरुआत में उन्होंने कहा कि उज्जैन की एक महिला ने एक यूनिट बिजली भी नहीं खर्च की, लेकिन उसे लाखों रुपए का बिल थमा दिया गया, वो पैसे नहीं दे पाई तो उसे जेल में डाल दिया। उन्होंने आगे कहा कि एक गरीब महिला को बिजली चोरी के नाम पर जेल में डाल दिया गया, दूसरी तरफ विजय माल्या नौ हजार 500 करोड़ रुपए चोरी करने के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली को बता कर लंदन भाग निकला। गांधी ने कहा कि कांग्रेस ऐसा हिंदुस्तान नहीं चाहती, पार्टी सबके साथ न्याय चाहती है। उन्होंने नीरव मोदी, मेहुल चौकसी और अनिल अंबानी को लेकर भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री अरुण जेटली पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने एक साल में मनरेगा के लिए जितनी राशि दी, नीरव मोदी और मेहुल चौकसी उतनी ही (35 हजार करोड़ रुपए) लेकर देश से भाग गए।

 —साभार, ईएनसी टाईम्स

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.