Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

जयपुर में राहुल गांधी के रक्षा मंत्री के निर्मला सीतारमण और पीएम मोदी को दिए बयान के बाद वो मुश्किलों में घिरते नजर आ रहे हैं। महिला आयोग ने बयान के संबंध में राहुल को नोटिस जारी किया है। बता दें बुधवार को राजस्थान में एक रैली के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा था कि प्रधानमंत्री डर गए हैं और अपने बचाव के लिए उन्होंने महिला मंत्री को सामने कर दिया।

राहुल के इस बयान पर केंद्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कड़ी प्रतिक्रिया दी थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने भी उनके बयान को अपमानजनक बताया था।

महिला आयोग ने राहुल गांधी के इस बयान को पुरुषवादी मानसिकता करार देते हुए उन्हें नोटिस भेजा है। महिला आयोग की अध्यक्ष ने इस बयान की निंदा करते हुए कहा, राहुल गांधी महिला को कमजोर मानते हैं? उन्होंने जो बयान दिया वह निंदनीय, महिला के लिए अपमानजनक है। हमने नोटिस भेजकर उनसे जवाब मांगा है कि बयान के पीछे उनकी क्या मंशा थी।

राहुल गांधी राफेल पर बेहद आक्रामक तेवर में नजर आ रहे हैं। जब उनके बयान पर पीएम मोदी ने पलटवार किया तो ट्विटर पर राहुल ने भी हल्ला बोला। राहुल ने ट्वीट कर कहा कि हमारी संस्कृति में महिलाओं के लिए सम्मान घर से शुरू हो जाता है। उन्होंने लिखा कि मोदीजी, बातों को अलग दिशा में मत ले जाइए और जवाब दीजिए।

उन्होंने ट्वीट में पूछा कि जब आपने राफेल डील में बदलाव हुआ तो क्या रक्षा मंत्रालय और वायुसेना ने आपत्ति जताई थी? मेरे इस सवाल का जवाब हां या ना में दीजिए।

दरअसल, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक रैली में आरोप लगाया था कि राफेल के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाग रहे हैं और बचाव के लिए संसद में एक महिला को आगे कर दिया। जिसको लेकर महिला आयोग ने सख्त रुख अपनाया है। राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने ट्वीट किया कि राहुल गांधी का “एक महिला से कहा मेरी रक्षा कीजिए? महिला विरोधी बयान है। क्या वह सोचते हैं कि एक महिला कमजोर है? राहुल गांधी देश की रक्षा मंत्री को ही कमजोर बता रहे हैं।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.