अपने बयान को लेकर पिछले दिनों सुर्खियों में रहें वरिष्ठ कांग्रेस नेता व पूर्व केंद्रीय मंत्री सीपी जोशी की मुश्किले बढ़ गई है। 21 नवंबर को जोशी ने प्रधानमंत्री मोदी सहित कुछ बीजेपी नेताओं की जाती पर विवादास्पद टिप्पणी की थी।

जिसके बाद आज नाथद्वारा के रिटर्निंग ऑफीसर ने सीपी जोशी को नोटिस भेजा है। उन्हें जवाब देने के लिए कल 11 बजे तक का समय दिया गया है। कांग्रेस नेता सीपी जोशी नाथद्वारा निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे हैं।

सीपी जोशी के बयान के बाद स्थानीय बीजेपी नेताओं ने चुनाव आयोग में जाकर शिकायत दर्ज कराई थी। माना जा रहा है कि उसी शिकायत के बाद रिटर्निंग ऑफिसर ने जोशी को नोटिस भेजा है।

बता दें कि राजस्थान विधानसभा चुनाव में प्रचार के दौरान पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता डॉ. सीपी जोशी ने भाजपा पर तीखा हमला बोलते हुए कहा था कि उन्हें यह अधिकार किसने दिया की वो बताएं कि कांग्रेसी हिंदू नहीं हैं। जोशी ने कहा कि अगर धर्म के बारे में कोई जानता है तो वो पंडित और ब्राह्मण ही हैं।

उन्होंने कहा, वो कहते हैं कि एक कांग्रेसी हिंदू नहीं हो सकता। उन्हें ऐसे प्रमाण पत्र जारी करने का अधिकार किसने दिया? क्या उन्होंने कोई विश्वविद्यालय खोला है?

सीपी जोशी ने इस सभा में आगे कहा, उमा भारती एक लोधी हैं और वो हिंदू धर्म की बात करती हैं। मोदी जी हिंदू धर्म की बात करते हैं। सिर्फ ब्राह्मण ही हैं जो इसके बारे में बात नहीं करते। देश को भ्रमित किया जा रहा है। धर्म और शासन दो अलग-अलग चीजें हैं। हर किसी को अपने धर्म के पालन का अधिकार है।

वहीं, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सीपी जोशी के इस बयान के बाद ट्वीट कर जोशी के बयान को पार्टी के सिद्धांतों के विपरीत बताते हुए उनसे इस मामले में खेद व्यक्त करने के लिए कहा था। उसके बाद जोशी ने अपने ट्वीटर हैंडल पर अपने बयान पर माफी मांग ली थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here