Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

राजस्थान के रामगढ़ में कांग्रेस ने कब्जा किया तो जींद की सीट बीजेपी की झोली में गई। बीजेपी के कृष्ण लाल मिड्ढा ने जीत हासिल की। कृष्ण लाल मिड्ढा ने 12,935 वोटों के अंतर के साथ जीत हासिल की और उन्‍हें कुल 50,566 वोट मिले। जजपा के दिग्विजय सिंह चौटाला को 37,631 वोट और कांग्रेस के आरएस सुरजेवाला को 22740 वोट मिले।

जींद में 1972 के बाद कोई जाट विधायक नहीं बना है, न ही बीजेपी का खाता खुला था। लेकिन इस जीत के साथ बीजेपी ने रिकॉर्ड बनाया है। इस चुनाव की अहमियत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि कांग्रेस ने अपने मीडिया प्रभारी और कैथल से विधायक रणदीप सिंह सुरजेवाला को मैदान में उतारा था।

21 उम्मीदवार मैदान में थे लेकिन कांटे की टक्कर जजपा के दिग्विजय चौटाला, बीजेपी के कृष्ण लाल मिड्ढा और कांग्रेस के रणदीप सिंह सुरजेवाला के बीच मानी जा रही थी। जींद में 28 जनवरी को उपचुनाव हुए। चुनाव के दौरान बूथों पर मतदाताओं का उत्‍साह देखते ही बना। बूथों पर लंबी कतारें लगीं रहीं।

जींद में 1.7 लाख वोटर हैं जिनमें से अनुसूचित जाति (एससी) और पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) का लगभग 50 प्रतिशत हिस्सा है। जाटों का लगभग 25 प्रतिशत वोट है। उपचुनाव मैदान में उतरे सभी चार पार्टियों सत्तारूढ़ बीजेपी, कांग्रेस, इनेलो और नई बनी पार्टी जननायक जनता पार्टी (जजपी) के लिए एक अग्निपरीक्षा है।

इनेलो के विधायक डॉक्टर हरिचंद मिढ्ढा के निधन के कारण यह उपचुनाव चुनाव हुआ है। मैदान में कुल 21 उम्मीदवार थे लेकिन मुकाबला 4 प्रत्याशियों के बीच ही माना जा रहा था। बीजेपी की ओर से कृष्ण लाल मिढ्ढा प्रत्याशी थे। उनके पिता हरिचंद मिढ्ढा यहां से विधायक थे।

राजस्थान के रामगढ़ में कांग्रेस ने जीत हासिल कर ली है। कांग्रेस की उम्मीदवार शाफिया जुबैर को 83311 वोट मिले हैं तो वहीं भाजपा 71083 को वोटों के साथ दूसरे नंबर पर रही। बहुजन समाज पार्टी के उम्मीदवार जगत सिंह को केवल 24156 वोट ही मिल पाए। भाजपा के सुखवंत सिंह ने कहा कि बहुजन समाज पार्टी ने हमारे वोट काटे हैं, जिसकी वजह से हम हार गए।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.