Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

दया सागर 

रियो ओलंपिक की कास्य पदक विजेता पहलवान साक्षी मलिक समेत तीन महिला पहलवानों ने शुक्रवार को एशियाई कुश्ती चैम्पियनशिप में भारत के लिए रजत पदक जीता। तीनों भारतीय महिला पहलवान फाइनल में जापान की प्रतिद्वंद्वियों से हार गईं। वहीं रितु फोगाट को महिला 48 किग्रा वर्ग में ब्रॉन्ज मेडल मिला क्योंकि उनकी प्रतिद्वंद्वी चीन की सुन यनान चोट के कारण तीसरे स्थान के प्ले ऑफ से हट गईं।

Sakshi, Divya and Vineesh gave India 'silver hatric' in Asian wrestling championshipसाक्षी मलिक 60 किग्रा भार वर्ग में जापान की अपनी प्रतिद्वंदी से 10-0 से हार गईं। ओलंपिक के बाद अंतरराष्ट्रीय सर्किट में वापसी कर रही साक्षी लय में नहीं दिखी और उन्हें रियो ओलंपिक के 63 किग्रा वर्ग की गोल्ड मेडलिस्ट जापान की रिसाकी कवाई के खिलाफ दो मिनट और 44 सेकेंड में ही 10-0 से शिकस्त का सामना करना पड़ा।

विनेश भी चोट के कारण काफी लंबे समय बाद वापसी कर रही हैं, उन्होंने शुरू में जापानी पहलवाना साई नानजो को चुनौती दी लेकिन अंत में उन्हें 4-8 से हारकर दूसरे स्थान से संतोष करना पड़ा। हालांकि विनेश अपने प्रदर्शन से काफी खुश नजर आई।उन्होंने कहा कि चोट से वापसी करते हुए पोडियम पर आना मेरे लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है।

69 किग्रा वर्ग में युवा खिलाड़ी दिव्या काकरन  ने भी अपने प्रदर्शन से सबको  प्रभावित किया। उन्होंने ताइपे की चेन ची को मैट पर गिराकर 2-0 से हराया और फिर सेमीफाइनल में कोरिया की हियोनयोंग पार्क को 12-4 से शिकस्त दी और फाइनल में पहुंची। जहाँ उन्हें जापान के सारा दोशे ने 8-0 से आसानी से हरा दिया।

रितु फोगाट को हालांकि महिला 48 किग्रा वर्ग के सेमीफाइनल में जापान की युई सुसाकी के खिलाफ शिकस्त झेलनी पड़ी और उन्हें कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा। वहीं एक अन्य महिला पहलवान पिंकी को 53 किग्रा वर्ग क्वार्टर फाइनल में ही हार का सामना करना पड़ा और वह इस प्रतियोगिता से खाली हाथ लौटीं।

तीन रजत और एक कांस्य पदक के साथ भारत के इस प्रतियोगिता में कुल 6 मेडल हो गए हैं। वहीं भारतीय पुरुष पहलवान  बजरंग और जितेंद्र भी अपने- अपने वर्गो के सेमीफाइनल में पहुंच गए, जिससे भारत के दो और पदक पक्के हो गए हैं ।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.