Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

राफेल गर्ल, युथ आईकॉन और देश की बेटी जैसे शब्दों से लोग शिवांगी सिंह को सोशल मीडिया पर संबोधित कर रहे हैं। क्योंकि शिवांगी राफेल को उड़ाने वाली भारत की पहली महिला होंगी।

महिलांए सभी बंधनों को तोड़कर अपना भविष्य खुद लिख रहीं हैं। इतिहास के सुनहरे पन्नों पर अपना नाम दर्ज कर रही हैं। भारतीय सेना में भी महिलांए बुलंदियों को छू रहीं हैं।

इतिहास रचने वाली शिवांगी सिंह दुनिया की सर्वोत्तम श्रेणी के युद्धक विमानों में एक राफेल, की पहली महिला पायलट बनने जा रहीं हैं। शिवांगी सिंह भारत की पहली राफेल गर्ल होगीं।

शिवांगी की तरह पिछले साल दिसंबर मे शिवांगी नाम की ही और महिला भारतीय नौसेना में पहली महिला पायलट बनी थीं। वो बिहार के मुजजफ्फरपुर की रहने वाली हैं।

राफेल गर्ल शिवांगी जोशी उत्तरप्रदेश के वाराणसी की रहने वाली हैं। ‘कन्वर्जन ट्रेनिंग’ पूरा करते ही वायुसेना के अंबाला बेस पर 17 ‘गॉल्डन एरोज’ स्क्वैड्रन में औपचारिक एंट्री लेंगी।

किसी पायलट को एक फाइटर जेट से दूसरे फाइटर जेट में स्विच करने के लिए ‘कन्वर्जन ट्रेनिंग’ लेने की जरूरत होती है।

शिवांगी सिंह मिग-21 उड़ा चुकीं हैं, तो राफेल चलाने का सफर आसान होगा। बता दे कि, मिग 340 किमी प्रति किमी की स्पीड के साथ दुनिया का सबसे तेज लैंडिंग और टेक-ऑफ स्पीड वाला विमान है।

वाराणसी की रहने वाली शिवांगी ने अपनी शिक्षा को बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी से पुरा किया है। शिवांगी सिंह महिला पायलटों के दूसरे बैच की हिस्सा हैं जिनकी कमिशनिंग 2017 में हुई। भारतीय वायुसेना के पास फाइटर प्लेन उड़ाने वाली 10 महिला पायलट हैं जो सुपरसोनिक जेट्स उड़ाने की कठिन ट्रेनिंग से गुजरी हैं। एक पायलट को ट्रेनिंग पर 15 करोड़ रुपये का खर्च आता है।

फ्लाइट लेफ्टिनेंट शिवांगी सिंह पहले राजस्थान के फॉरवर्ड फाइटर बेस पर तैनात थीं जहां उन्होंने विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान के साथ उड़ान भरी थी।

शिवांगी सिंह के साथ देश की कई महिलओं ने इतिहास रचा है। जिसमें फ्लाइट लेफ्टिनेंट अवनी चतुर्वेदी, फ्लाइट लेफ्टिनेंट भावना कांत और फ्लाइट लेफ्टिनेंट मोहना सिंह भारतीय वायुसेना में बतौर फाइटर जेट उड़ाने वाली महिला पायलटों के पहले बैच में शामिल थीं।

उन्हें जून 2016 में इसकी बेसिक ट्रेनिंग दी गई थी। इन महिलाओं ने ही सशस्त्र बलों के युद्धक अभियानों से महिलाओं को बाहर रखने की नीति को धता बताते हुए नया इतिहास रचा था।

बता दे कि शिवांगी भारत की युथ आईकॉन बन गईं हैं। सोशल मीडिया पर भी इनकी चर्चा जोरो शोरो से हो रही है। लोग कह रहे हैं कि बेटी हो तो शिवांगी जैसी जिसने अपने माता पिता के साथ देश का भी नाम रौशन किया है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.