Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप के फाइनल में जापान की नोजोमी ओकुहारा ने ना सिर्फ पीवी सिंधु को हराया बल्कि पूरे भारत का भी दिल तोड़ दिया। हालांकि, एक विश्व चैंपियनशिप का फाइनल जिस स्तर का होना चाहिए, यह मैच उससे भी बढ़ कर था। एक-एक प्वाइंट के लिए जिस तरह से दोनों खिलाड़ियों ने जो संघर्ष किया वह बेहद रोचक और दिलचस्प था। इस मैच में संघर्ष, इमोशन, ड्रामा सब कुछ था।

यह मैच इतना लंबा था कि दर्शक दीर्घा में बैठी स्टार शटलर और इस टूर्नामेंट की कांस्य पदक विजेता साइना नेहवाल को कोच गोपीचंद से कहना पड़ा कि ‘मैच देखते-देखते मेरा पेट्रोल ही खत्म हो गया। क्या शानदार शानदार मैच हुआ !’ गोपी ने भी मजाक में कहा, ‘ऐसा लगा ये मैच खत्म ही नहीं होगा। ये चलता ही जाएगा।’

आपको बता दें कि यह मैच वर्ल्ड चैंपियनशिप के इतिहास का दूसरा सबसे लंबा मैच था, जो लगभग 110 मिनट तक चला। इससे लंबा मैच ओकुहारा और चीन की शिक्सियन वांग के बीच 2015 में खेला गया था जो इस मैच से सिर्फ एक मिनट अधिक 111 मिनट तक चला था। इस मैच की अधिकतर रैली 20 शॉट के ऊपर की थी जबकि एक रैली तो 73 शॉट्स की रही। इसके बाद अगली दो बड़ी रैली भी 50 शॉट्स से अधिक की रही। दोनों ही शटलर थक जरुर गई थी, लेकिन कोई भी हिम्मत और मैच हारने को तैयार नहीं था।

रियो ओलिंपिक में कांस्य पदक जीतने वाली ओकुहारा ने रियो ओलंपिक रजत पदक विजेता सिंधु को बेहद रोमांचक और संघर्षपूर्ण मुकाबले में 21-19, 20-22, 22-20 से हराया। इस मुकाबले का रोमांच इतना अधिक था कि दर्शक एक पल के लिए भी अपनी सीट छोड़ नहीं सकते थे। दोनों खिलाड़ियों के बीच एक-एक अंक की दिलचस्प लड़ाई देखी गई। खासकर तीसरे गेम में यह लड़ाई और भी रोमांचक, रोचक और दिलचस्प हो गई। यह गेम 46 मिनट तक चला और अंततः अपने कुछ गलतियों और थकान की वजह से पीवी सिंधु को हार का सामना करना पड़ा।

इस गेम में ओकुहारा एक समय 4-1 से आगे थीं। सिंधु ने इसके बाद बेहतरीन वापसी करते हुए स्कोर 5-5 से बराबर कर लिया। इसके बाद से दर्शकों के बेहतरीन खेल देखने को मिला और दोनों खिलाड़ियों के बीच एक-एक अंक के लिए कठिन मशक्कत शुरू हुई, जो 20-20 तक चली। यहां से ओकुहारा ने सिंधु की गलती और थकान का फायदा उठाते हुए बाजी अपने नाम कर लिया।

PV sindhuओकुहारा विश्व चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीतने वाली जापान की पहली महिला खिलाड़ी बनीं। वहीं भारत के लिए भी यह टूर्नामेंट खासा सफल रहा और पहली बार ऐसा हुआ कि जब विश्व चैम्पियनशिप के पोडियम पर भारत के दो खिलाड़ी खड़े थे। 

सिंधु के इस उपलब्धि के लिए पीएम मोदी समेत अनेक सितारों ने बधाई दिए।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.