होम देश AMU में ‘सर सैयद डे’ का आयोजन, पूर्व CJI टीएस ठाकुर...

AMU में ‘सर सैयद डे’ का आयोजन, पूर्व CJI टीएस ठाकुर ने कहा- सर सैयद सांस्कृतिक परिवर्तनों के अग्रदूत थे

AMU के संस्थापक सर सैयद अहमद खां(Sir Syed ahmad khan)का 204 वां जन्म दिवस मनाया गया। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में ‘सर सैयद डे’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया कोरोना के चलते कार्यक्रम का आयोजन ऑनलाइन किया गया। सर सैयद डे मुख्य अतिथि पूर्व मुख्य न्यायाधीश टीएस ठाकुर ने कहा कि सर सैयद दिवस समारोह के मुख्य अतिथि के रूप में मैं वास्तव में प्रसन्न महसूस कर रहा हूं क्योंकि यह दिन सर सैयद की जयंती का प्रतीक है, जो उन्नीसवीं शताब्दी के भारत के सबसे प्रभावशाली व्यक्तियों में से एक थे, जो भारत में शैक्षिक, सामाजिक और सांस्कृतिक परिवर्तनों के अग्रदूत भी थे।

सर सैयद ने ठीक ही सोचा था कि आधुनिक शिक्षा सभी बीमारियों के लिए रामबाण है और अज्ञानता सभी परीक्षणों और क्लेशों की जननी है। उन्होंमने वैज्ञानिक सोच के विस्तार के लिए साइंटिफिक सोसाइटी की स्थापना की।

सर सैयद अहमद खां ने भाईचारा स्थापित करने का काम किया: तारिक मंसूर

एएमयू कुलपति प्रो. तारिक मंसूर ने भी सर सयैद अहमद खां के कामों और आदर्शों को याद किय उन्होंने कहा कि सर सैयद अहमद खां ने भाईचारा स्थापित करने का काम किया। शिक्षा पर वह बहुत जोर देते थे। प्रो. मंसूर ने कहा कि सर सैयद का कहना था कि अगर आप विकास चाहते हैं तो लोगों को पढ़ाना होगा।

उन्होंने कहा कि सर सैयद अहमद खां ने गुलामी की जंजीरों को तोड़ने के लिए हिंदुस्तान में ऑक्सफोर्ड-कैंब्रिज जैसी यूनिवर्सिटी का सपना देखा था, सैयद अहमद खां ने ही 1875 में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी की नींव रखी थी. 146 साल में इस नींव पर बुलंदियों की बड़ी इमारत खड़ी हो चुकी है। दुनियाभर में अपनी तालीम के लिए मशहूर अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी मुस्लिम राजनीति के एक बड़े सेंटर के रूप में भी जानी जाती है।

कई बड़े मुस्लिम सियासतदान एएमयू की दहलीज से निकले हैं और आजादी के आंदोलन से लेकर नागरिकता संशोधन कानून के प्रोटेस्ट समेत कई अहम मूवमेंट में एएमयू के स्टूडेंट्स सक्रिय भागीदारी निभाते रहे हैं….एएमयू के छात्र पूर्व राष्ट्रपति जाकिर हुसैन, सीमांत गांधी ‘भारत रत्न’ अब्दुल गफ्फार खान, पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, बांग्लादेश के पूर्व प्रधानमंत्री मंसूर अली, मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद अमीन दीदी, जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम शेख अब्दुल्ला और दिल्ली के पूर्व सीएम साहिब सिंह वर्मा अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के ही छात्र थे।

एएमयू के संस्थापक सर सैयद अहमद खान का जन्म दिल्ली में 17 अक्टूबर 1817 में हुआ था. इसलिए एएमयू में हर साल 17 अक्टूबर को सर सैयद अहमद खान के जन्मदिवस के उपलक्ष्य में सर सैयद डे का आयोजन किया जाता है।

देखें सीएम Yogi Adityanath का ओरिजिनल VIDEO जिसका कुछ पार्ट सोशल मीडिया में हो रहा है वायरल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Modi Government ने दिल्ली-NCR में प्रदूषण नियंत्रण के लिए टास्क फोर्स का गठन किया

सुप्रीम कोर्ट में गुरुवार को दिल्ली-एनसीआर प्रदूषण मामले पर सुनवाई के दौरान Modi Government ने दाखिल हलाफ़नमे में जानकारी दी है कि केंद्र सरकार ने प्रदूषण नियंत्रण के लिए टास्क फोर्स का गठन किया है।

‘Tadap’ Screening पर Ahan Shetty के पोस्टर को Salman Khan ने किया KISS, वायरल हुआ वीडियो

अभिनेता अहान शेट्टी (Ahan Shetty) और तारा सुतारिया (Tara Sutaria) अपनी अपकमिंग फिल्म तड़प (Tadap) को लेकर सुर्खियों में बने हुए हैं। बता दें कि ‘तड़प’ 3 दिसंबर को सिनेमाघरों में रिलीज होने जा रही है। जिसके लिए मुंबई में ‘तड़प’ का शानदार प्रीमियर हुआ। जहां रिया चक्रवर्ती, काजोल, सलमान (salman khan) खान समेत कई सितारे पहुंचे थे।

देश के पहले राष्ट्रपति Rajendra Prasad की आज जयंती, प्रधानमंत्री ने किया नमन

देश के पहले राष्ट्रपति Rajendra Prasad की आज जयंती है। पूरा देश भारत भारत रत्न को याद कर रहा है। प्रधानमंत्री (Prime...

साउथ की ‘Marakkar’ ने रिलीज से पहले कमाए 100 करोड़, सलमान-अक्षय कुमार की फिल्म को दी मात

मलयालम सुपरस्टार मोहनलाल (Mohanlal) की फिल्म मरक्कर(Marakkar )लॉयन ऑफ द अरेबिन सी 2 दिसम्बर को रिलीज हो चुकी है। Marakkar फिल्म के आइडिया पर मोहनलाल और डायरेक्टर प्रियदर्शन काफी लंबे समय से काम कर रहे थे। आपको बता दें कि यह पहली ऐसी फिल्म है जो कि रिलीज से पहले ही एडवांस बुकिंग से 100 करोड़ रुपए का बिजनेस कर लिया है। इस बात की जानकारी खुद फिल्म के डायरेक्टर मोहनलाल ने सोशल मीडिया के जरिए दी है।