Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

क्रिकेट के खेल में क्या आप कभी ऐसा सोच सकते है कि कोई गेंदबाज मात्र 4 गेंदों में ही 92 रन लुटाकर अपनी टीम को मैच हरा देगा। कहते है क्रिकेट में कुछ भी हो सकता है और वर्ल्ड क्रिकेट के इतिहास में भी ऐसा सच हुआ कि बंग्लादेश के एक गेंदबाज ने महज 4 गेंद पर 92 रन लुटा डाले। बंग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने इस कारनामे के लिए गेंदबाज सुजोन महमूद को खेल बदनाम करने का दोषी पाया और उनपर 10 साल का बैन लगा दिया।

दरअसल, बंग्लादेश की लालमाटिया क्लब एक घरेलू मैच में 50 ओवरों के एक मैच में केवल 14 ओवर में 88 रन पर आउट हो गई थी। इसके जवाब में उसकी प्रतिद्वंद्वी टीम एक्सिम क्रिकेटर्स ने केवल चार गेंदों पर बिना किसी नुकसान के 92 रन बना दिए थे। सुजोन ने ढाका में खेले गए इस मैच के पहले ओवर में 13 वाइड और तीन नोबॉल की। ये सभी गेंदें बाउंड्री पार गईं और इनसे टीम को 80 रन मिले। इस गेंदबाज़ ने जो चार वैध गेंदें की उनमें से तीन पर एक्सिम के सलामी बल्लेबाज़ मुस्ताफिज़ुर रहमान ने चौके लगाए और इस तरह से उनकी टीम सिर्फ चार गेंदों पर लक्ष्य तक पहुंच गयी।

क्रिकेट के इस अनहोनी रिकॉर्ड से बंग्लादेश क्रिकेट की दुनिया भर में किरकिरी उड़ाई गई और इसलिए बंग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने गेंदबाद पर 10 साल का बैन लगा दिया। बीसीबी ने लालमाटिया क्लब को ढाका सेकेंड डिवीज़न लीग में भाग लेने से अनिश्चितकाल के लिए रोक दिया है जबकि उसके कोच, कप्तान और मैनेजर पर पांच साल का प्रतिबंध लगाया गया है।

बीसीबी ने इसके अलावा भी ऐसे ही एक और मामले में मैच गंवाने के लिए एक अन्य क्लब फीयर फाइटर्स को भी ब्लैक लिस्ट कर दिया है। साथ ही इस क्लब के गेंदबाज तसनीम हसन पर दस साल का बैन लगा दिया है। बीसीबी के एक अधिकारी ने संवादादाता सम्मेलन में बताया कि  “हमने जांच में पाया कि गेंदबाज़ों ने हमारी क्रिकेट की छवि खराब करने के लिए जानबूझकर वाइड और नोबॉल की। इन दोनों मामलों में संबंधित क्लब के लिए जीत या हार आगे बढ़ने या रेलीगेशन के लिए मायने नहीं रखती थी।”

गौरतलब है कि लालमाटिया क्लब के सचिव अदनान रहमान ने स्वीकार किया था कि सुजोन ने ख़राब अंपायरिंग के विरोध में जानबूझकर वाइड और नोबॉल की थी। बीसीबी ने इन दोनों मैचों के अंपायरों को भी छ: महीने के लिए निलंबित कर दिया।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.