Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर भारतीय जनता पार्टी और शिवसेना में खींचतान जारी है। विधानसभा का कार्यकाल शनिवार को खत्म हो रहा है, मगर अबतक तय नहीं हो सका है कि सरकार कौन बनाएगा। एक तरफ शिवसेना है जो 50-50 फॉर्मूले के तहत सीएम पद पर अड़ी है, दूसरी ओर बीजेपी है जो सीएम पद शिवसेना से बांटना नहीं चाहती है। शिवसेना ने तो अपने विधायकों को मुंबई के रंगशारदा होटल में रख दिया है ताकि किसी भी तरह की खरीद फरोख्त से वो बच सकें। देर रात आदित्य ठाकरे रंगशारदा में विधायकों से मिलने पहुंचे।

वहीं देवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। सरकार गठन को लेकर जारी असमंजस के बीच फडणवीस ने बीजेपी के नेताओं के साथ राजभवन में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की और राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया।


मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि मेरे पास अच्छी खबर है। मेरा इस्तीफा स्वीकार कर लिया गया है। मुझे महाराष्ट्र की सेवा करने का मौका मिला। मैं महाराष्ट्र, मोदी, शाह, नड्डा और हमारे सभी नेताओं का शुक्रगुज़ार हूं। प्रेस कॉन्फ्रेंस में शिवसेना का नाम लिए बिना फडणवीस ने मुस्कराते हुए कहा कि सहयोगी को धन्यवाद।


फडणवीस ने कहा कि पांच साल के कार्यकाल में हमने जनता के विकास के लिए काफी काम किए। इसी काम के दम पर जनता ने फिर से एनडीए को चुना है। शिवसेना के साथ 50-50 फॉर्मूले पर उन्होंने कहा कि ढाई-ढाई साल के मुख्यमंत्री पर को लेकर ऐसी कोई बात नहीं हुई थी। फडणवीस ने आगे कहा कि महाराष्ट्र ने हमें लोकसभा चुनावों के दौरान एक बड़ा जनादेश मिला और यहां तक कि विधानसभा में भी हमें सहयोगी के रूप में चुनावों का सामना करना पड़ा। महायुति (महागठबंधन) को स्पष्ट जनादेश मिला। हम 160 से अधिक सीट जीतने में सफल रहे। बीजेपी 105 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.