Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने शनिवार को भाजपा संगठन पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि भाजपा के लोगों को यह स्पष्ट करना चाहिए कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या करने वाला नाथूराम गोडसे देशभक्त था या नहीं? दिग्विजय ने यहां संवाददाताओं को बताया, भाजपा नेता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर संकल्प यात्रा निकाल रहे हैं, लेकिन उन्हें देश को गोडसे की राष्ट्रभक्ति के बारे में भी बताना चाहिए।

उन्होंने कहा, भाजपा की विचारधारा गांधी के बिल्कुल विपरीत है। दिग्विजय ने एक सवाल के जवाब में कहा कि 1970-71 में संघ के कुशाभाऊ ठाकरे और राजमाता विजयाराजे सिंधिया ने मुझसे जनसंघ में शामिल होने के लिए कहा था। हालांकि मैं वहां नहीं गया, क्योंकि मैं गांधी को मानता हूं और मुझे सद्बुद्धि आ गई। उनसे पूछा गया था कि भाजपा नेता कह रहे हैं कि 50 साल बाद यह बात क्यों याद आई है, तो उनका कहना था कि ‘मैं शुरू से इसी बात को कहता आ रहा हूं।

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि भाजपा के कई नेता महात्मा गांधी का अपमान कर चुके हैं, लेकिन पार्टी ने उन पर कोई कार्रवाई नहीं की। दरअसल, उनका इशारा भोपाल से दिग्विजय सिंह के खिलाफ लोकसभा चुनाव लड़ीं और जीतकर सांसद बनीं साध्वी प्रज्ञा ठाकुर की ओर था। प्रज्ञा ठाकुर ने नाथूराम गोडसे को लेकर एक विवादित बयान दिया था, जिसमें उन्होंने गोडसे को देशभक्त बता दिया था।

आपको बता दें कि दिग्विजय सिंह ने 2 अक्टूबर को इंदौर में कहा था कि यह अजीब है कि जिस विचारधारा ने महात्मा गांधी की हत्या की, उसका अपने कार्यकर्ताओं को संदेश है कि एक महीने तक हर पंचायत में पदयात्रा करो। आप वहां कौन-सा दर्शन जनता के सामने रखेंगे, गांधी दर्शन रखेंगे या गोडसे या गोलवलकर दर्शन?

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.