Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

केंद्र की ओर से जारी रिपोर्ट में दिल्ली के 11 स्थानों से लिए गए पेयजल के सैंपल फेल हुए हैं। बुराड़ी, विश्वास नगर, अशोक विहार और सोनिया विहार में पता चला कि कुछ जगहों पर अब भी गंदे पानी की आपूर्ति हो रही है। कुछ इलाके ऐसे भी हैं, जहां पानी साफ तो दिख रहा है, लेकिन बदबू की वजह से पीने लायक नहीं है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन द्वारा राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पीने योग्य पानी की खराब गुणवत्ता पर एक ट्वीट और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की प्रतिक्रिया के बाद सोमवार को यह ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा था।

17 नवंबर को केंद्रीय मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने अरविंद केजरीवाल को टैग करते हुए अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया, “मुफ्त पानी के नाम पर आप दिल्लीवासियों को जहर पिला रहे हैं। देश के 20 शहरों में हुए सर्वेक्षण में दिल्ली के पानी को सबसे ज्यादा जहरीला पाया गया।’

डॉ हर्षवर्धन ने आम आदमी पार्टी पर भी भड़के, “विकास पर लंबा दावा करते हुए, आम आदमी पार्टी लोगों को स्वच्छ पानी देने में विफल रही है”।

दूसरी ओर जवाब में, केजरीवाल ने भी ट्वीट किया: “सर, आप एक डॉक्टर हैं। आप जानते हैं कि यह रिपोर्ट झूठी है। यह राजनीति से प्रभावित है। आप जैसे लोगों को गंदी राजनीति का हिस्सा नहीं बनना चाहिए”।

केजरीवाल के ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए, उत्तर-पूर्वी दिल्ली के सांसद और भाजपा नेता मनोज तिवारी ने ट्वीट करते हुए कहा, “अरविंद केजरीवाल जी, आप मीडिया को झूठ बता रहे हैं। आप सभी से झूठ बोलकर जिम्मेदारी से बच नहीं सकते। आप उजागर हो चुके हैं। आपने पिछले पाँच वर्षों में केवल गंदा पानी ही सुनिश्चित किया है”।

AAP ने 17 नवंबर को दावा किया कि दिल्ली जल बोर्ड ने केंद्र की उस रिपोर्ट का खंडन किया है जिसमें पीने के लिए नल का पानी अयोग्य था।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.