Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

सूखे से जूझ रहे उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड में एक बुजुर्ग ने कड़ी मेहनत कर गांव में पानी की समस्या का समाधान किया है। हमीरपुर के बड़ा पचखुरा गांव में रहने वाले 60 साल के कृष्णानंद बाबा ने 4 साल में अकेले 8 बीघा क्षेत्रफल वाले तालाब को 12 फीट गहरा खोदकर उसे पुनर्जीवित कर दिया है। अब तालाब में लबालब पानी भरा हुआ है। वहीं बाबा को लोग अब बुंदेलखंड का दशरथ मांझी कहने लगे हैं।

बता दें बुंदेलखंड में तालाब और नदियां सूख चुके हैं। पानी की एक-एक बूंद के लिए लोगों को तरसना पड़ता है। इससे निपटने के लिए कई योजनाएं तो बनती हैं, लेकिन धरातल पर नहीं उतर पातीं। कृष्णानंद ने 2015 में सूखे से लड़ने की ठानी और तालाब को पुनर्जीवित करने का फैसला किया। बाबा ने जिस समय तालाब को साफ और गहरा करना शुरू किया, तब उसकी गहराई 5 फीट भी नहीं थी।

अकेले तालाब की खुदाई करते और मिट्टी को तसले में भरकर बाहर ले जाकर फेंकते बाबा को देखकर ग्रामीण मदद करने की जगह उन पर हंसते थे। ग्रामीणों के तंज से उनका हौसला नहीं टूटा। वे रात-दिन तालाब खोदने में लगे रहे। 4 साल लगातार प्रयास के बाद बाबा ने तालाब की सिल्ट को पूरा साफ करके इसे 12 फीट गहरा कर दिया। तालाब आज ग्रामीणों की प्यास बुझा रहा है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.