होम विदेश Afghanistan में सरकार गठन के बाद Taliban में फूट, Mullah Abdul Ghani...

Afghanistan में सरकार गठन के बाद Taliban में फूट, Mullah Abdul Ghani Baradar ने छोड़ा काबुल!

Afghanistan में अंतरिम सरकार के गठन के बाद आपसी फूट की खबरें सामने आने लगी है। बताया जा रहा है कि तालिबान के सह-संस्थापक Mullah Abdul Ghani Baradar के कई दिनों से गायब हैं। राजधानी काबुल में राष्ट्रपति भवन में आपसी गुटों के समर्थकों के बीच कथित तौर पर मारपीट की बात भी कही जा रही है। यह आपसी फूट इस बात पर केंद्रित था कि अमेरिका पर जीत हासिल करने के लिए सबसे अधिक प्रयास किसने किया और नए मंत्रिमंडल में सत्ता कैसे विभाजित की गई। लेकिन तालिबान ने आधिकारिक तौर पर इन खबरों का खंडन किया है। तालिबान के सह-संस्थापक मुल्ला अब्दुल गनी बरादर के कई दिनों तक गायब रहने के बाद विवाद सामने आया।

आपस में भिड़े तालिबानी

Taliban के एक सूत्र ने बीबीसी पश्तो से कहा कि बरादर और ख़लील उर-रहमान के बीच आपसी कहासुनी हुई है। इसके बाद दोनों नेताओं के समर्थक आपस में भिड़ गए। ख़लील उर-रहमान आतंकवादी संगठन हक़्क़ानी नेटवर्क के नेता और तालिबान की सरकार में शरणार्थी मंत्री हैं। कतर में स्थित तालिबान के एक वरिष्ठ सदस्य और इसमें शामिल लोगों से जुड़े एक व्यक्ति ने भी पुष्टि करते हुए कहा कि पिछले सप्ताह के अंत में भी एक बहस हुई थी।

सूत्रों ने कहा कि बहस इसलिए छिड़ गई क्योंकि नए उप प्रधानमंत्री बरादर अपनी अंतरिम सरकार की संरचना से ख़ुश नहीं हैं। यह पंक्ति कथित तौर पर विभाजन से भी उपजी है। अफगानिस्तान पर अपनी जीत का श्रेय किसे लेना चाहिए।

Mullah Abdul Ghani Baradar ने की थी Donald Trump से बात

Mullah Abdul Ghani Baradar पहले तालिबानी नेता थे, जिन्होंने 2020 में Donald Trump के साथ टेलीफोन पर बातचीत करने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति के साथ सीधे संवाद किया था। इससे पहले, उन्होंने तालिबान की ओर से अमेरिकी सैनिकों की वापसी पर दोहा समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। शक्तिशाली हक्कानी नेटवर्क हाल के वर्षों में अफगानिस्तान में अफगान बलों और उनके पश्चिमी सहयोगियों के खिलाफ हुए कुछ सबसे हिंसक हमलों में शामिल रहा है। समूह को अमेरिका द्वारा एक आतंकवादी संगठन के रूप में नामित किया गया है। इसके नेता सिराजुद्दीन हक्कानी नई सरकार में गृह मंत्री हैं।

तालिबान के सूत्रों ने कहा है कि विवाद के कारण बरादर काबुल छोड़ कंधार चले गए हैं। सोमवार को बरादार के नाम पर एक ऑडियो टेप जारी किया गया जिसमें वे कह रहे हैं कि वे यात्राओं पर बाहर हैं। इस ऑडियो रिकॉर्डिंग की पुष्टि नही की गई।

यह भी पढ़ें:

Taliban से RSS की तुलना को लेकर घिरे Javed Akhtar, BJP नेता बोले-माफी मांगे

शिवसेना ने मुखपत्र सामना में Javed Akhtar को दी नसीहत, Ram Kadam ने उद्धव पर बोला हमला

Taliban का समर्थन करने वाले लोकतांत्रिक देशोें की Javed Akhtar ने लगाई क्लास, कहा- “विवेक जैसे शब्दों को भूल जाना चाहिए”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Priyanka Gandhi Vadra होंगी UP Congress चुनाव अभियान का चेहरा : P L Punia

प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) उत्तर प्रदेश (UP) में कांग्रेस के चुनाव अभियान का चेहरा होंगी, ये बात कांग्रेस नेता पीएल पुनिया (PL Punia) ने आज कहा। पुनिया को अगले साल यूपी चुनावों के लिए कांग्रेस की प्रमुख 20-सदस्यीय चुनाव प्रचार समिति के प्रमुख के रूप में नामित किया गया है,

17 अक्टूबर: देश के कई हिस्सों में भारी बारिश, पढ़ें दिन भर की तमाम बड़ी खबरें

Kerala में भारी बारिश से मची तबाही के कारण कम से कम पांच लोगों की मौत हो गई है। जानकारी के मुताबिक भारी बारिश की वजह से इडुक्की और कोट्टायम जिलों में कई जगहों पर भूस्खलन हुआ, जिसके कारण यह हादसा हुए। एनडीआरएफ का राहत दल तुफान और बारिश में फंसे लोगों को बचाने में दिन-रात लगी हुई है।

सिंघु बॉर्डर में हुई दलित व्‍यक्ति की मौत पर बसपा प्रमुख Mayawati ने सीबीआई जांच की मांग की, कहा – मामला गंभीर है

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बसपा प्रमुख Mayawati ने सिंघु बॉर्डर (Singhu Border) पर कथित तौर पर निहंग सिख द्वारा की गई एक दलित व्यक्ति मौत की पर सीबीआई जांच की मांग की है।

Jammu Kashmir में आतंकवादियों की फिर नापाक हरकत, 2 बिहारी मजदूरों की हत्या

जम्‍मू-कश्‍मीर के कुलगाम (Kulgam) के वानपोह (Wanpoh) इलाके में आतंकियों ने गैर स्थानीय लोगों पर अंधाधुंध फायरिंग की है।