हम आजादी से जी सकें, हम चैन की नींद सो सकें, इसलिए हमारे वीर जवान अपनी जान जोखिम में डालकर सीमा की सुरक्षा में रात-दिन लगे रहते हैं। ऐसे में हमारा भी फर्ज बनता है कि हम उनकी वीरता को सलाम करें। युवाओं को भारतीय फौज में जाने के लिए प्रेरित करें। इसी को लेकर नई दिल्ली के जवाहरलाल नेहरु स्टेडियम में भारतीय सैनिकों के सम्मान में सोल्जरैथन इवेंट के पहले संस्करण की शुरुआत की गई। सोल्जरैथन इवेंट में तक़रीबन 6000 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। इस इवेंट में 3, 5 और 10 कि.मी. की दौड़ का आयोजन किया गया और साथ ही व्हीलचेयर कैटेगरी भी शामिल की गई।

इस इवेंट का उद्देश्य देश के प्रति अपनी जान न्यौछावर करने वाले वीर बहादुर भारतीय सैनिकों की बहाली और उनके बच्चों की पढ़ाई के लिए फंड इकट्ठा करना रहा। खास बात ये थी कि इस इवेंट में क्रिकेट की दुनिया के स्टार बल्लेबाज गौतम गंभीर और भारत के टॉप फिल्डरों में गिने जाने वाले मोहम्मद कैफ भी शामिल थे।  इवेंट की शुरुआत करवाने के पीछे मेजर सुरेंद्र पूनिया की महत्वपूर्ण भूमिका रही। सुरेंदर पूनिया के अलावा भारतीय सेना के पूर्व अधिकारी भी इवेंट के दौरान युवा सैनिकों और प्रतिभागियों का हौसलाअफजाई करते नजर आए।

इवेंट के दौरान गौतम गंभीर ने कहा कि  देश की सेवा में हमारे सैनिक हर दिन एक साथ खड़े रहते हैं और आज हमें उनके सम्मान में खड़े होने का मौका मिला है। यह हमारे लिए गर्व की बात है। इस में बच्चों की भी भागीदारी देख कर मुझे बड़ी खुशी हुई। विंध्या, उत्कर्ष, वंशिका, शिवि जैसे हजारों छोटे छोटे बच्चों की कोशिशों भी इस आयोजन के सफल होने के लिए तारीफ के काबिल हैं।

इस इवेंट में पूर्व सेनाध्यक्ष वीके सिंह, परमवीर चक्र से सम्मानित कैप्टन बाना सिंह, सूबेदार मेजर योगेन्द्र सिंह यादव, भारत के पहले ब्लेड रनर मेजर डीपी सिंह और अन्य कई अधिकारी शामिल हुए।

 वहीं मोहम्मद कैफ ने कहा कि मैं भी अपने सैनिकों के सम्मान में इस इवेंट का हिस्सा बना हूं और अभी-अभी 10 किमी की दौड़ लगाकर आ रहा हूं। मेरे लिए यह सम्मान की बात रही कि मैं इस इवेंट का हिस्सा रहा। मैं चाहता हूँ कि हम सब हमारे सैनिकों के लिए हर मुमकिन कोशिश में उनका साथ दें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here