भारतीय टीम अभी इंग्लैड के दौरे पर है। वहां WTC का फाइनल मुकाला खेलने गई थी। जहां भारत को न्यूजीलैंड के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था। मगर अब भारत को अगले महीने इंग्लैड के साथ टेस्ट सीरीज खेलना है। मगर सीरीज शुरू होने से पहले ही भारत को शुभमन गिल के रूप में बड़ा झटका लग चुका है.और वो चोट के कारण टीम से बाहर हो गए है। जिसके बाद भारतीय टीम प्रबंधन देवदत्त पडीक्कल और पृथ्वी शॉ को टीम में जगह देना चाहते है। मगर सवाल यह खड़ा हो रहा है कि क्या चयन समिति के अध्यक्ष चेतन शर्मा भी ऐसा करना चाहते है।

सवाल यह भी खड़ा हो रहा है कि बंगाल के सलामी बल्लेबाज अभिमन्यु मिथुन को साल 2019-20 के रणजी में बेकार प्रदर्शन करने और भारत-ए के न्यूजीलैंड दौरे में भी रन नहीं बनाने के बावजूद टीम में कैसे रखा गया। मगर हर कोई चाहता है की शॉ और पंडीक्कल को टीम के लिए पहली प्राथमिकता दी जाए।

बी.सी.सी.आई के सूत्रों के अनुसार खबर है कि शुभमन गिल चोटिल होने के कारण इंग्लैड दौरे से बाहर है। उन्हे सही होने में लगभग 3 महीने लग सकते है। पिछले महीने टीम के प्रशासनिक प्रबंधक ने चेतन शर्मा को पत्र भेजा और लिखा था की दो अन्य सलामी बल्लेबाजों को ब्रिटेन भेजा जाए।

शुभमन गिल के चोटिल की खबर जानने के बावजूद कहा जा रहा है कि चेतन शर्मा इस बात पर खास ध्यान नहीं दे रहे है। अब देखना यह है कि क्या टीम प्रबंधन शॉ और पडीक्कल को भेजने के लिए BCCI अध्यक्ष सौरव गांगूली और सचिव शाह से अनुरोध करते है। सूत्रों से पता चला है कि “शॉ और पडीक्कल को भेजने के लिए बीसीसीआइ अध्यक्ष को अभी तक औपचारिक अनुरोध नहीं मिला है। यह दोनों खिलाड़ी अभी सीमित ओवरों की सीरीज के लिए श्रीलंका दौरे पर हैं। मगर 26 जुलाई तक यह दौरा खत्म हो जाएगा। इसके बाद इंग्लैड रवाना हो सकते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here