Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

केंद्र सरकार इस महीने समाप्त हो रहे वित्त वर्ष में सार्वजनिक क्षेत्र के एक दर्जन से भी ज्यादा बैंकों को 46,101 करोड़ रुपये की इक्टिवटी पूंजी देगी। इस पूंजी में से सबसे ज्यादा रकम सरकार SBI को देगी। यह रकम 8,800 करोड़ रुपये होगी। इस पूंजी को हासिल करने वाले बैंकों की सूची में भारतीय स्टेट बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, यूनियन बैंक समेत दर्जन भर से ज्यादा सरकारी बैंक शामिल हैं।

केंद्र सरकार एसबीआई को जहां 8800 करोड़ रुपये देगी। वहीं, बैंक ऑफ बड़ोदा को 5,375 करोड़, सेंट्रल बैंक को 4,835 करोड़, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया को 4,524 करोड़ और ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स को 3,571 करोड़ रुपये रुपये दिए जाएंगे। इसके अलावा देना बैंक को 3,045 करोड़, सिंडिकेट बैंक  2,839 करोड़ और कॉरपोरेशन बैंक को 2,187 करोड़ रुपये की शेयर पूंजी दी जाएगी।

ये भी पढ़ें: बैंको के 100 करोड़ से ज्यादा बकाया रखने वाले देंनदारों की सपंत्तियां पर सरकार का नया कानून

विजया बैंक ने अपने शेयरधारकों की बैठक शुक्रवार (9 मार्च) को बुलाई है। आज इस बैठक में 1,277 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर तरजीही आधार पर सरकार को आवंटित करने को लेकर फैसला लिया जाएगा।

वहीं एसबीआई , बैंक ऑफ बड़ोदा, पीएनबी, सेंट्रल बैंक, यूनियन बैंक और ओबीसी ने इसी महीने अपने शेयरहोल्डर्स की बैठक बुलाई है। एसबीआई के शेयरधारकों की बैठक 15 मार्च को होनी है। इस बैठक में बैंक सरकार से इस पूंजी को हासिल करने की खातिर तरजीही शेयर बांटने वाले प्रस्ताव को पास करेंगे।

इसके साथ ही पंजाब नेशनल बैंक ने शेयर बाजारों को बताया है कि शेयरधारकों की असाधारण बैठक 16 मार्च को होगी। इस बैठक में 5,473 करोड़ मूल्य के तरजीही शेयर सरकार को आवंटित करने को लेकर फैसला लिया जाएगा।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.