होम विदेश United Nations की मौसम एजेंसी ने बताया कि Covid 19 के लॉकडाउन...

United Nations की मौसम एजेंसी ने बताया कि Covid 19 के लॉकडाउन के कारण 2020 में Air Quality में सुधार हुआ

United Nations की मौसम एजेंसी World Meteorological Organization का कहना है कि कोरोनोवायरस महामारी के चलते लॉकडाउन और यात्रा में प्रतिबंधों के कारण दुनिया और विशेष रूप से शहरी क्षेत्रों में पिछले साल वायु प्रदूषकों के उत्सर्जन में बहुत ज्‍यादा गिरावट हुई है। विश्व मौसम विज्ञान संगठन (World Meteorological Organization) ने शुक्रवार को अपना पहला वायु गुणवत्ता और जलवायु Bulletin जारी करते हुए बताया किया कि प्रदूषण में कमी बहुत ही कम थी और दुनिया के कई हिस्सों में ऐसे स्तर दिखे जो वायु गुणवत्ता के दिशानिर्देशों से आगे निकल गए। कुछ प्रकार के प्रदूषक (Pollutants) लगातार रहे और कुछ उससे भी ज्‍यादा स्तरों पर निकल रहे हैं।

Lockdown के कारण प्रदूषक उत्सर्जन में कमी हुई

WMO के महासचिव (Secretary General) पेटेरी तालस (Petteri Taalas) ने कहा कि “COVID-19 एक अनियोजित वायु-गुणवत्ता वाला प्रयोग साबित हुआ और इससे अस्थायी स्थानीय सुधार हुआ लेकिन यह एक महामारी और जलवायु परिवर्तन दोनों की प्रमुख समस्‍याओं से निपटने के लिए व्यवस्थित तरीके का विकल्प नहीं है इसलिए लोगों और दुनिया दोनों के स्वास्थ्य की रक्षा करे।” WMO ने अपने अध्ययन में पाया कि सल्फर डाइऑक्साइड (Sulfur Dioxide), नाइट्रोजन ऑक्साइड (Nitrogen Oxides), कार्बन मोनोऑक्साइड (Carbon Monoxide) और ओजोन Ozone के मुख्य प्रदूषकों की वायु गुणवत्ता में परिवर्तन हुआ है। जिनेवा की इस एजेंसी ने प्रदूषक उत्सर्जन में अभूतपूर्व कमी का उल्लेख किया क्योंकि कई सरकारों ने Lockdown, भीड़ को जमा होने और स्कूलों को बंद कर दिया था।

कुछ ही समय के लिए ही प्रदूषकों पर प्रभाव पड़ा : Oksana Tarasova

WHO के वायुमंडलीय पर्यावरण अनुसंधान प्रभाग की प्रमुख ओक्साना तरासोवा (Oksana Tarasova) ने कहा कि ”प्रमुख प्रदूषकों पर इस तरह के उपायों का प्रभाव थोड़े ही समय के लिए था। जब गतिशीलता को कम करने के उपायों का अर्थ है “सड़क पर कोई कार नहीं है, तो आप तुरंत वायु गुणवत्ता में सुधार देखते हैं। और निश्चित रूप से, जैसे ही कारें सड़क पर वापस जाती हैं, आपको बिगड़ती स्थिति वापस मिल जाती है। ” इसकी तुलना कार्बन डाइऑक्साइड (Carbon Dioxide) जैसे ग्लोबल वार्मिंग के पीछे “लंबे समय तक चलने वाली ग्रीनहाउस गैसों (Greenhouse Gases) से की जाती है, जिनके वायुमंडलीय स्तर को बदलने में कई साल लग सकते हैं।

Oksana Tarasova ने यह भी कहा कि ” हवा की गुणवत्ता बहुत जटिल थी और उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलिया में जंगल की आग, साइबेरिया और संयुक्त राज्य अमेरिका में बायोमास जलने से धुआं, और Godzilla Effect जैसी घटनाएं से उत्तरी अमेरिका में भी पिछले साल वायु गुणवत्ता पर प्रभाव पड़ा।”

Nitrogen Oxides के स्तर में 70% की गिरावट हुई

WMO ने नाइट्रोजन ऑक्साइड (Nitrogen Oxides) के औसत स्तर में लगभग 70% तक की गिरावट का दावा किया, जो बड़े पैमाने पर परिवहन और जीवाश्म ईंधन (fossil fuels) के जलने से उत्सर्जित होते हैं। WMO ने दक्षिण-पूर्व एशिया में 2015 से 2019 के समय की तुलना पिछले साल पूर्ण लॉकडाउन के समय से की और उस  दौरान हवा में छोटे कणों के औसत स्तर में 40% की कमी दर्ज की गई।

नाइट्रोजन ऑक्साइड के कण हवा में ओजोन को भी नष्ट कर देते हैं। आंशिक रूप से नाइट्रोजन ऑक्साइड में गिरावट के कारण ओजोन का स्तर थोड़ा बढ़ जाता है। कार्बन मोनोऑक्साइड का स्तर सभी क्षेत्रों, विशेषकर दक्षिण अमेरिका में गिर गया। नीति निर्माताओं के लिए एक पहेली यह है कि हवा में सल्फर डाइऑक्साइड जैसे कुछ प्रदूषक वास्तव में वातावरण को ठंडा करने में मदद करते हैं और थोड़े समय के लिए जलवायु परिवर्तन के प्रभावों की भरपाई करते हैं।

ये भी पढ़ें :

Taliban ने Panjshir पर कब्जे का किया दावा, Kabul में जश्न

Pakistani Air Force ने पंजशीर पर ड्रोन से किया बमबारी, NRF को भारी क्षति

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Chhattisgarh News: भारत माला परियोजना को लेकर BJP के आरोपों को कांग्रेस ने बताया गलत, कहा- भू-अर्जन का काम रमन सरकार में हुआ था

Chhattisgarh News: भारतीय जनता पार्टी के नेता और पूर्व मंत्री चंद्रशेखर साहू द्वारा राज्‍य सरकार पर लगाए गए मुआवजा घोटाले के आरोपों को प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता Sushil Anand Shukla ने मनगढ़ंत और झूठा बताया है। उन्‍होंने कहा कि इन दोनों सड़क परियोजनाओं की स्वीकृति तत्कालीन भाजपा की रमन सरकार के समय हुआ था। इसका प्रारंभिक प्रकाशन भी 2018 में हुआ था। उस समय भी भाजपा की रमन सरकार थी। प्रारंभिक प्रकाशन के पश्चात भूस्वामी के नाम तथा भूमि के स्टेटस में किसी भी प्रकार का परिवर्तन नहीं किया गया। किसी के पारिवारिक बंटवारे, फौती आदि की स्थिति को छोड़कर। शुक्ला ने कहा कि मुआवजा प्रकरण में भाजपा नेता जो आरोप लगा रहे हैं उसमें अगर तनिक भी सच्चाई है तो इस गड़बड़ी और घोटाले के लिये भाजपा की रमन सरकार जवाबदार है।

Team India के सलामी बल्लेबाज Mayank Agarwal ने किया कमाल, विराट और रोहित को भी इस मामले में छोड़ा पीछे

Team India के सलामी बल्लेबाज Mayank Agarwal ने New Zealand के खिलाफ खेलते हुए एक खास रिकॉर्ड अपने नाम किया। मंयक अग्रवाल ने मुंबई में खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मुकाबले में मंयक ने पहली पारी ने 150 रन और दूसरी पारी में 62 रन बनाते ही विराट कोहली और रोहित शर्मा को एक खास मामले में पीछे छोड़ दिया। मयंक के नाम अब आईसीसी टेस्ट वर्ल्ड चैम्पियनशिप में भारत की तरफ से एक टेस्ट में सबसे ज्यादा बार 200 रन बनाने का रिकॉर्ड दर्ज हो गया है।

Bollywood News Updates: Katrina Kaif की शादी से पहले एक्ट्रेस का परिवार पहुंचा मुंबई, पढ़ें Entertainment से जुड़ी सभी खबरें

Bollywood News Updates: विक्की कौशल (Vicky Kaushal) के साथ शादी से पहले कैटरीना कैफ (Katrina Kaif) का परिवार मुंबई पहुंच गया है। बीते रात कैटरीना के भाई सेबेस्टियन लॉरेंट मिशेल को एक्ट्रेस के घर के बाहर देखा गया। उसी कार में कटरीना कैफ की बहन और भी थीं। बता दें कि विक्की और कैटरीना 9 दिसंबर को राजस्थान में शादी के बंधन में बंधेंगे।

UP Election 2022: सांसद Varun Gandhi ने फिर साधा योगी आदित्यनाथ पर निशाना, ट्वीट करके बोले- मां भारती के लाल पर लाठीचार्ज

UP Election 2022 के पहले हो सकता है भारी लटफेर क्योंकि जिस तरह से भाजपा सांसद वरुण गांधी यूपी की योगी सरकार पर लगातार हमलावर हैं। उससे आसार कुछ ठीक नहीं नजर आ रहे् हैं। बहुत हद तक मुमकिन है कि चुनाव से पहले वरुण गांधी कोई और रास्ता अख्तियार कर लें।