Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

सर्दियां बुजुर्ग व्यक्ति को अपनी चपेट मेें फौरन लेती हैं। इसमें खराब इम्यून सिस्टम वाले बुजुर्गों की संख्या सबसे अधिक है। हाइपोथर्मिया इनमे से एक है। इम्यून सिस्टम खराब होने के कारण शरीर अपनी गर्मी जल्दी खो देता है। तामपान का लेवल गिर जाता है। सर्दियों में खासकर जोड़ों में दर्द, दिल का दौरा पड़ना जैसी समस्या अधिक बढ़ जाती है।

अगर बुजुर्ग अपने दिनर्चया में इन बातों का ख्याल रखेंगे तो इस मौसम में भी स्वस्थ रह सकते हैं। चलिए आज हम आपको कुछ सुझाव देते हैं, जिससे आप सर्दियों में बीमारियों से बच कर ,सर्दियों का मजा उठा सकते है।

योगा करें
ये मौसम ही आलस से भरा और साथ ही बिस्तर से निकलना मुश्किल कर देता है। लेकिन खुद को रखना है जब स्वस्थ तो योग व सैर को बनाएँ अपने दिनर्चया का एक महत्वपूर्ण हिस्सा। जो आपको दे ब्लड सर्कुलेशन , दिल की बीमारी जैसे रोगों से मुक्ति। और आपका पूरा दिन रहे सकारात्मक ऊर्जा से भरपूर। वहीं अपने दिमाग को सक्रिय रखने के लिए आप घर पर ही सुडोकू, शतरंज और लूडो जैसे खेल को खेल सकते हैं।

खान-पान का अच्छी तरह रखें ख्याल
सर्दियों में बिमारियां बिन बुलाए मेहमान की तरह आती हैं।, इन से मुक्ति पाने के लिए सही खान-पान का ख्याल रखे। साथ ही विटामिन पर खासा ध्यान रहे। VitE, VitC, VitD, VitB, Iron,और Zinc जैसे तत्वो से भरपुर। मछली, गुड़-मूंगफली, तिल के लड्डू, मौसमी फल, लहसुन, हरी पत्तेदार सब्जियां खासकर पालक, साग और मेथी आदि को जरूर शामिल करें। इससे शरीर नेचुरली गर्म और ब्लड सर्कुलेशन सही रहेगा, जिससे जोड़ों के दर्द जैसी समस्याएं नहीं होगी। सुबह की सूर्य की किरण को लेना बिलकुल ना भुले, यह हड्डियो के लिए बहुत लाभदायक होता है।


दवाओं का रखें ध्यान
आपका जीवन दवाओं के इर्द-गिर्द घूम रहा है तो इस मौसम में अपनी दवा को सही समय पर खाएं। यदि ऐसा नहीं करेंगे तो सर्दियां अपने गिरफ्त मेें आप को फौरन ले सकती हैं। साथ ही अपने डॉक्टर से समय-समय पर कंसर्न करते रहें।

अधिक पानी पिएं

सर्दियों में लोग अक्सर कम पानी पीने की गलती कर बैठते हैं पानी की जगह वे टी, कॉफी लेते हैं। पर सेहत के हिसाब से ये बेहद की खराब आदत है। पानी कम पीना पेट की खतरनाक बीमारियो को बुलावा देती है। साथ ही चाय में मौजूद कौफीन पेट से जुड़ी समस्याओं का कारण भी बन सकता है। ऐसे में आप 8-9 गिलास गुनगुना पानी, सूप, जूस और ग्रीन टी लें। इससे बॉडी हाइड्रेट रहेगी साथ ही मोटापा और अनेको बीमारियों से दूर भी।

गर्म कपड़े पहनना न भुलें
अपने शरीर पर हमेशा ऊनी कपड़े पहने और हाथों ,पैरो और कान को ढ़क कर रखे । अनावश्यक रात में बाहर ना निकले क्योंकि रात में सर्द हवाएँ तेज होती है।

हीटर नहीं, गर्म बोतल का करें इस्तेमाल
दिल से जुड़ी बीमारी वाले लोगों को अपने शरीर को गर्म रखना सबसे जरूरी है। उसके लिए आप गर्म पानी का बोतल इस्तेमाल करे । एक बात का खास ध्यान रखे , हीटर का इस्तेमाल न करे क्योकि इससे निकलने वाली कार्बनडाई ऑक्सडाई गैस सेहत को नुकसान पहुंचाती है


वैक्सीन लगवाएं
बुजुर्गों के लिए ऐसे कई टीके मौजूद है, जो निमोनिया, फ्लू, वायरल से बचाने में मदद करते हैं। इसके बारे में अपने डॉक्टर से सलाह लें।

अब जानिए कुछ आयुर्वेदिक उपचार
उबली सब्जियों खाएं या सूप पीएं। ज्यादा तले व मसालेदार भोजन को ना खाएँ करें।
सरसों, जैतून या नारियल के गुनगने तेल से मालिश करें ,जोड़ों के दर्द से राहत मिलता है। य़दि बुखार व गले के संक्रमण से बचना हो तो रोज एक चम्मच भुनी हुई अलसी व जीरा खाएँ।
खाने में अदरक लहसुन का अधिक प्रयोग करें।

जरूरी है खुश रहना
स्वस्थ रहने के लिए आपका खुश रहना बहुत जरूरी है। सर्दियों के दौरान मन में अवसाद और अकेलेपन की भावना पनप सकती है। अपने परिवार के संपर्क में रहें, खुद को व्यस्त रखें और दोस्तों से मिलें। 10-15 मिनट सर्दियों की धूप में जरूर बैठें।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.