विषय Bromelain enzyme

Tag: bromelain enzyme

फायदों से भरपूर है Pineapple, जानिए खाने का सही तरीका

Pineapple के कई फायदे हैं। यह पाचन में सहायता करता है। इस फल में पाया जाने वाला एक एंजाइम ब्रोमेलैन है जो पाचन संबंधी कई समस्याओं में भी मदद करता है।

Most Read

फिल्म ‘Tadap’ के प्रीमियर में एक साथ दिखे Athiya Shetty और KL Rahul, लोगों की टिकी निगाहें

अभिनेता अहान शेट्टी (Ahan Shetty) और तारा सुतारिया (Tara Sutaria) अपनी अपकमिंग फिल्म तड़प (Tadap) को लेकर सुर्खियों में बने हुए हैं। बता दें कि 'तड़प' 3 दिसंबर को सिनेमाघरों में रिलीज होने जा रही है। जिसके लिए मुंबई में 1 दिसंबर को 'तड़प' का प्रीमियर हुआ। जहां रिया चक्रवर्ती, काजोल, सलमान खान समेत कई सितारे पहुंचे थे। वहीं अहान की बहन अथिया शेट्‌टी के साथ क्रिकेटर केएल राहुल भी फिल्म के प्रीमियर के दौरान वहां मौजूद रहे। इस बीच सभी की निगाहें केएल राहुल पर टिकी हुई थीं।

Prashant Kishor बोले- Congress 10 साल में 90 प्रतिशत चुनाव हारी, विपक्षी नेतृत्व लोकतांत्रिक तरीके से हो तय

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) का कहना है कि कांग्रेस (Congress) का नेतृत्व करना किसी व्यक्ति का दैवीय अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पिछले 10 सालों में 90 प्रतिशत चुनाव हारी है। ऐसे में विपक्ष का नेतृत्व कौन करेगा इसका फैसला लोकतांत्रिक तरीके से होना चाहिए।

5th International Ambedkar Conclave 2021: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा- बाबासाहब के लिए भारतीयता सर्वोपरि थी

5th International Ambedkar Conclave 2021: दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित 5th इंटरनेशनल अंबेडकर कॉन्क्लेव को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द (Ram Nath Kovind) ने कहा कि बाबासाहब के लिए भारतीयता सर्वोपरि थी। उन्होंने कहा कि सामाजिक तौर पर पिछड़े लोगों में जानकारी अभाव रहा है। उन लोगों तक जानकारी पहुंचना बेहद जरूरी है।

संयुक्त किसान मोर्चा की 4 दिसंबर को बैठक, Rakesh Tikait ने कहा- सरकार टेबल पर आई तो हम किसानों की शहादत से जुड़े पूरे...

राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) सरकार के सामने न्यूनतम समर्थन मूल्य (Minimum Support Prices) के लिए अड़ गए हैं। टिकैत ने कहा है कि 700 किसान तीनों कृषि कानून (3 Farm Law) के विरोध में शहीद हुए हैं ऐसे कैसे बॉर्डर खाली कर दें। कानून वापसी के बाद किसान संगठन अब एमएसपी (MSP) गारंटी की मांग कर रहे हैं। सरकार ने भी साफ कह दिया है कि गारंटी देना मुश्किल है। MSP पर गारंटी की मांग के बीच और कानून वापसी के बाद किसानों का क्या रूख होगा इसपर किसान संगठनों ने अपनी राय साफ नहीं की है। टिकैत ने एक बार फिर मृत किसानों के लिए आवाज बुलंद की है। टिकैत ने कहा कि सरकार टेबल पर आएगी तो हम उनके सामने किसानों की शहादत से जुड़े तथ्य को सामने रखेंगे।