विषय Navratri fast

Tag: Navratri fast

Navratri 2021: नवरात्रि के सातवें दिन, मां कालरात्रि की होती है पूजा, जानें पूजन विधि और मंत्र

Navratri 2021: कहा जाता है कि कालरात्रि की उपासना करने से ब्रह्मांड की सारी सिद्धियों के दरवाजे खुलने लगते हैं। और तमाम असुरी शक्तियां उनके नाम के उच्चारण से ही भयभीत होकर दूर भागने लगती हैं। नाम से अभिव्यक्त होता है कि मां दुर्गा की यह सातवीं शक्ति कालरात्रि के नाम से जानी जाती है। अर्थात जिनके शरीर का रंग घने अंधकार की तरह एकदम काला है। नाम से ही जाहिर है कि इनका रूप भयानक है। सिर के बाल बिखरे हुए हैं और गले में विद्युत की तरह चमकने वाली माला है। अंधकारमय स्थितियों का विनाश करने वाली शक्ति हैं। कालरात्रि काल से भी रक्षा करने वाली यह शक्ति है।

Navratri 2021: आज नवरात्रि का तीसरा दिन, मां चंद्रघंटा की होती है पूजा, जानें पूजन विधि और मंत्र

Navratri 2021: मां चंद्रघंटा देवी के मस्तक पर घंटे के आकार का आधा चंद्र है। इसीलिए इस देवी को चंद्रघंटा कहा गया है। इनके शरीर का रंग सोने के समान बहुत चमकीला है। इस देवी के दस हाथ हैं। वे खड्ग और अन्य अस्त्र-शस्त्र से विभूषित हैं। उनकी उपासना-आराधना से सारे कष्टों से मुक्त होकर सहज ही परम पद के अधिकारी बन सकते हैं। यह देवी कल्याणकारी है।

Navratri 2021: पीएम मोदी ने दी नवरात्रि की बधाई, आरती करते शेयर किया वीडियो

Navratri 2021: नवरात्रि का पावन पर्व आज से शुरु हो रहा है। इस पावन अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने देशवासियों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि नवरात्रि सभी के जीवन में शक्ति, अच्छा स्वास्थ्य और समृद्धि लाए।

Navratri 2021 : नवरात्री की हुई शुरुआत, आज मां दुर्गा के पहले स्वरूप शैलपुत्री की हो रही है पूजा

Navratri 2021 : आज से शारदीय नवरात्रि का शुभ पर्व शुरू हो रहा है। नवरात्रि में मां दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है। अश्विन मास के शुक्ल पक्ष के नवरात्रि के नौ दिनों के व्रत का विशेष महत्व होता है। कुछ लोग पहले और आखिरी दिन व्रत रखते हैं। जबकि कई लोग पूरे 9 दिन व्रत रखते हैं। इस साल दो तिथियां एक साथ पड़ने की वजह से नवरात्रि आठ दिन मनाई जाएगी। दुर्गा मां का ये पवित्र पर्व 14 अक्टूबर को महानवमी को समाप्त होगा।

Most Read

Vicky Kaushal और Katrina Kaif अपनी शादी के लिए राजस्थान रवाना होने के लिए तैयार, देखें वीडियो

विक्की कौशल (Vicky Kaushal) और कैटरीना कैफ (Katrina Kaif) अपनी शादी को लेकर सुर्खियों में बने हुए हैं। मुंबई में उनकी प्री-वेडिंग सेलिब्रेशन जोरों पर है। बता दें कि विक्की और कैटरीना का परिवार 6 दिसंबर को राजस्थान के लिए रवाना होगा। लोगों ने उनकी कारों को देखा जो राजस्थान जानें के लिए तैयार हो रही थीं।

IND vs NZ: India ने New Zealand को 372 रनों से हराकर टेस्ट सीरीज 1-0 से अपने नाम किया, घर पर भारत ने लागातार...

India और New Zealand के बीच खेले गए दूसरे टेस्ट में भारतीय टीम ने सबसे बड़ी जीत हासिल की। मुम्बई टेस्ट में भारत ने न्यूज़ीलैंड को 372 रनों से हराकर सीरीज को 1-0 से जीत लिया। दो मैचों की टेस्ट सीरीज में भारत ने 1-0 से सीरीज पर कब्जा जमाया। टेस्ट सीरीज से पहले भारत ने रोहित शर्मा की कप्तानी में टी20 सीरीज पर भी कब्जा जमाया था।

Mahaparinirvan Diwas 2021: पुण्यतिथि पर राष्ट्र ने बाबा साहेब अंबेडकर को किया याद, राष्ट्रपति कोविंद ने अर्पित की श्रद्धांजलि

Mahaparinirvan Diwas 2021:भारत के संविधान निर्माता Babasaheb Dr B.R. Ambedkar की पुण्‍यतिथि पर आज पूरा देश उन्हें याद कर रहा है। बाबा साहेब अम्बेडकर के महापरिनिर्वाण दिवस पर आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उन्‍हें सादर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उन्हें याद किया है। उन्‍होंने सोशल मीडिया ट्विटर पर ट्वीट किया, ”भारत रत्न बाबासाहेब डॉ. भीमराव अम्बेडकर को उनके महापरिनिर्वाण दिवस पर सादर श्रद्धांजलि।”

Wasim Rizvi ने इस्लाम छोड़ अपनाया हिंदू धर्म, Yeti Narasimhanand Giri Maharaj ने ग्रहण करवाया सनातन धर्म

इस्लाम पर उंगली उठाने वाले और कुरान में 26 आयतों की खिलाफत करने वाले शिया सेट्रल वफ्क बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी (Wasim Rizvi, Former Chairman of the Shia Central Waqf Board) ने इस्लाम छोड़ हिंदू धर्म अपना लिया है। रिजवी को डासना देवी मंदिर के महंत यति नरसिंम्हानंद गिरी महाराज (Yeti Narasimhanand Giri Maharaj) ने 10 बजे सनातन धर्म ग्रहण करवाया। पूरे विधि विधान से रिजवी हिंदू धर्म में शामिल हो गए हैं। उन्होंने बताया था कि उन्हें इस्लाम से बाहर कर दिया है, जिसके बाद हिंदू धर्म अपना रहे हैं। जाहिर है अभी कुछ दिन पहले ही वसीम रिजवी ने वसीयत जारी कर कहा था कि उन्हें निधन के बाद दफनाया न जाए बल्कि हिंदू रीति रिवाज से अंतिम संस्कार किया जाए। उन्होंने यह भी कहा था कि उनकी चिता को महंत यति नरसिंम्हानंद गिरी महाराज अग्नि दें।