विषय Uttar Pradesh Assembly Elections

Tag: Uttar Pradesh Assembly Elections

किसानों के समर्थन में फिर उतरे Varun Gandhi, कहा- किसान अपनी फसल में आग लगा रहे हैं, ये देश के लिए शर्म की बात...

किसानों के समर्थन में एक बार फिर Varun Gandhi ने बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि यह बेहद शर्म की बात है कि देश के किसान अपनी फसलों में आग लगा रहे हैं। साथ ही उन्होंने एक बार फिर से एमएसपी को वैधानिक गारंटी देने की मांग भी की।

kushinagar airport: अखिलेश यादव का बीजेपी पर हमला, कहा- ‘पायलट बनने से प्लेन आपका नहीं हो जाता’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को एयरपोर्ट का उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को एयरपोर्ट का उद्घाटन किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने कहा कि हमने देशवासियों के जीवन से सरकार के दखल को कम करने को एक मिशन के रूप में लिया। हमने सरकारी प्रक्रियाओं को सरल बनाने के लिए निरंतर प्रयास किए।

CORONA उत्तर प्रदेश में तोड़ रहा है दम, रफ्तार हुई कम

CORONA को लेकर उत्तर प्रदेश की जनता के लिए राहत की खबर है.

Asaduddin Owaisi के पोस्टरों में Faizabad शब्‍द से विवाद, साधुओं ने दी धमकी

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख Asaduddin Owaisi आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए 7 सितंबर को अयोध्या में एक जनसभा के साथ अपनी पार्टी के प्रचार अभियान की शुरुआत करेंगे। लेकिन उनकी रैली के पोस्टरों में अयोध्या की जगह फैजाबाद (Faizabad) शब्‍द का इस्‍तेमाल किया गया। इसी के चलते विवाद शुरू हो गया।

जनमंच: Muradabad से जनता की “मन की बात”, बिजली में हुआ सुधार

जनमंच: Muradabad से जनता की “मन की बात”, लोगों का कहना है कि योगी राज में बिजली में सुधार हुआ है।

जनमंच: मेरठ की जनता ने कहा- “योगी राज में कम हुई गुंडागर्दी”, यूपी में ओवैसी का नहीं है कोई स्कोप

उत्तर प्रदेश में साल 2022 में 403 विधानसभा सीटों पर चुनाव होने वाला है। कांग्रेस-बीजेपी के साथ सभी क्षेत्रीय पार्टियां चुनाव की तैयारियों में जुट गई हैं। जनता को लुभाने के लिए बड़े बड़े वादे किए जा रहे हैं। कई परियोजनाओं का सौगात दिया जा रहा है। जनता भी अपनी सरकार को चुनने के लिए पूरी तरह से तैयार है

नोएडा को मॉर्डन शहर बनाना चाहते हैं सीएम योगी, यमुना सिटी में 15 हजार करोड़ का निवेश

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भोले की नगरी वाराणसी को जापान का सबसे धार्मिक शहर क्योटो बनाना चहाते हैं वहीं उत्तर प्रदेश...

APN Podcast – सुनो भई साधो: वोट की राजनीति में “झुनझुना” बन गई है जनता

उत्तर प्रदेश की राजनीति करवटें बदल रही है। जल्दी ही होने वाले चुनावी महाभारत के लिए तमाम घोड़े खोले जाने की तैयारियां...

ओमप्रकाश की सियासी मजबूरी, BJP की सत्ता में वापसी के लिए राजभर समुदाय का वोट भी जरूरी

ओमप्रकाश राजभर ने मंगलवार को बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह के साथ मुलाकात की है। माना जा रहा कि ओमप्रकाश की सियासी...

अगले 25 सालों तक यूपी को BJP की जरुरत है – सीएम आदित्यनाथ योगी

देश के सबसे बड़े विधानसभा सीटों वाले राज्य उत्तर प्रदेश में साल 2022 में 403 सीटों पर चुनाव होने वाला है। ऐसे...

Most Read

फिल्म ‘Tadap’ के प्रीमियर में एक साथ दिखे Athiya Shetty और KL Rahul, लोगों की टिकी निगाहें

अभिनेता अहान शेट्टी (Ahan Shetty) और तारा सुतारिया (Tara Sutaria) अपनी अपकमिंग फिल्म तड़प (Tadap) को लेकर सुर्खियों में बने हुए हैं। बता दें कि 'तड़प' 3 दिसंबर को सिनेमाघरों में रिलीज होने जा रही है। जिसके लिए मुंबई में 1 दिसंबर को 'तड़प' का प्रीमियर हुआ। जहां रिया चक्रवर्ती, काजोल, सलमान खान समेत कई सितारे पहुंचे थे। वहीं अहान की बहन अथिया शेट्‌टी के साथ क्रिकेटर केएल राहुल भी फिल्म के प्रीमियर के दौरान वहां मौजूद रहे। इस बीच सभी की निगाहें केएल राहुल पर टिकी हुई थीं।

Prashant Kishor बोले- Congress 10 साल में 90 प्रतिशत चुनाव हारी, विपक्षी नेतृत्व लोकतांत्रिक तरीके से हो तय

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) का कहना है कि कांग्रेस (Congress) का नेतृत्व करना किसी व्यक्ति का दैवीय अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पिछले 10 सालों में 90 प्रतिशत चुनाव हारी है। ऐसे में विपक्ष का नेतृत्व कौन करेगा इसका फैसला लोकतांत्रिक तरीके से होना चाहिए।

5th International Ambedkar Conclave 2021: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा- बाबासाहब के लिए भारतीयता सर्वोपरि थी

5th International Ambedkar Conclave 2021: दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित 5th इंटरनेशनल अंबेडकर कॉन्क्लेव को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द (Ram Nath Kovind) ने कहा कि बाबासाहब के लिए भारतीयता सर्वोपरि थी। उन्होंने कहा कि सामाजिक तौर पर पिछड़े लोगों में जानकारी अभाव रहा है। उन लोगों तक जानकारी पहुंचना बेहद जरूरी है।

संयुक्त किसान मोर्चा की 4 दिसंबर को बैठक, Rakesh Tikait ने कहा- सरकार टेबल पर आई तो हम किसानों की शहादत से जुड़े पूरे...

राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) सरकार के सामने न्यूनतम समर्थन मूल्य (Minimum Support Prices) के लिए अड़ गए हैं। टिकैत ने कहा है कि 700 किसान तीनों कृषि कानून (3 Farm Law) के विरोध में शहीद हुए हैं ऐसे कैसे बॉर्डर खाली कर दें। कानून वापसी के बाद किसान संगठन अब एमएसपी (MSP) गारंटी की मांग कर रहे हैं। सरकार ने भी साफ कह दिया है कि गारंटी देना मुश्किल है। MSP पर गारंटी की मांग के बीच और कानून वापसी के बाद किसानों का क्या रूख होगा इसपर किसान संगठनों ने अपनी राय साफ नहीं की है। टिकैत ने एक बार फिर मृत किसानों के लिए आवाज बुलंद की है। टिकैत ने कहा कि सरकार टेबल पर आएगी तो हम उनके सामने किसानों की शहादत से जुड़े तथ्य को सामने रखेंगे।