Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

नाक से जुड़ी समस्या को साइनस कहते हैं। ये एलर्जी, बैक्टीरियल इंफेक्शन या कोल्ड की वजह से हो जाती है। ठंड के मौसम में साइनस की मुश्किल अधिक होती है। इसके कारण शरीर में बलगम जम जाता है। इसके कारण बदन दर्द होता रहता है साथ ही सांस लेने में दिक्कत होती है। साइनस की समस्या 4 हफ्तों या उससे ज्यादा समय तक भी बनी रह सकती है। अच्छी बात ये है कि कुछ घरेलू तरीकों से इस समस्या से आराम मिल सकता है।

अधिक तेल में बना पदार्थ खाने से साइनस बढ़ने लगता है। अगर आप भी इससे जूझ रहे हैं तो खुद को हमेशा हाइड्रेटेड रखें। इसके लिए आप ढेर सारा पानी पिए, या चाय, जूस का भी सेवन कर सकते हैं।  ये तरल पदार्थ बलगम को शरीर से बाहर निकालने में मदद करते हैं। साइनस की समस्या वालों को एल्कोहल, कैफीन और स्मोकिंग से दूर रहना चाहिए।

पीसी हुई लाल मिर्च की तरह तीखे मसालों में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी बैक्टीरीयल गुण पाए जाते हैं जो बलगम को बाहर निकालने में मदद करते हैं। इसके अलावा एप्पल साइडर विनेगर और नींबू के रस में हॉर्सरैडिश मिलाकर लेने से भी साइनस की समस्या में राहत मिलती है।

साइनस से राहत पाने का सबसे आसान तरीका है भाप लेना। किसी सकरे बर्तन में पानी गर्म करें उसमें विक्स एड करें और चादर या फिर दुपट्टा की मदद से खुद को घेर ले सिर झुका कर धीरे-धीरे भाप लें। इससे आपकी बंद नाक खुल जाएगी और आपको हल्का महसूस होगा।

हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। हल्दी और अदरक की चाय बलगम को ढीला करने में मदद करती है और इससे बंद नाक भी खुल जाती है। साइनस की समस्या में हल्दी और अदरक की चाय को सबसे कारगर आयुर्वेदिक उपचार माना गया है। इसके अलावा, 1 चम्मच शहद के साथ ताजे अदरक के रस को मिलाकर दिन में 2 से 3 बार लिया जा सकता है।

एप्पल साइडर विनेगर यानी सेब का सिरका भी साइनस में एक प्राकृतिक उपचार के तौर पर काम करता है। एक कप गर्म पानी में 3 चम्मच सेब का सिरका डालकर पीने से साइनस का दबाव कम होता है। स्वाद के लिए इसमें नींबू और शहद भी मिला सकते हैं। दिन भर में तीन समय सिर्फ एक चम्मच एप्पल साइडर विनेगर लेने से भी आपको फायदा होगा।

सर्दियों में अक्सर आलस के कारण रात का बचा हुआ खाना लोग खाते हैं। पर ठंड में ध्यान रहे बचा हुआ खाना न खाएं और चावल का सेवन कम करे। रोटी खाना पसंद करे। चावल खाने से बार-बार शौचालय जाने की दिक्कत होती है इस दौरान पानी में बार-बार हाथ डालने से साइनस की समस्या होती है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.