Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

देश में आज से घरेलू उड़ानें शुरु हो गईं हैं। जैसा कि हम जानते हैं कि अभी कोरोना वायरस के चलते देश लॉकडाउन के चौथे चरण से गुजर रहा है। यह लॉक़ाउन करीब दो महीने से जारी है। देश की अधिकांश गतिविधियां ठप्प पड़ी हैं। ऐसे में ठीक 2 महीने बाद देश के अलग-अलग राज्यों में हवाई सफर दोबारा शुरू हो गया है। ऐसे में दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट से भुवनेश्वर के लिए सुबह विस्तारा की फ्लाइट 6 बजकर 50 मिनट पर रवाना हुई।

फ्लाइट के यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग हुई। साथ ही एयरलाइन की तरह से सभी को फेस मास्क उपलब्ध कराए गए। साथ ही फ्लाइट अटेंडेंट पीपीई किट पहने दिखाई पड़े। एएनआई के अनुसार, इससे पहले 4 बजकर 45 मिनट पर पुणे के लिए सबसे पहली फ्लाइट रवाना होनी थी उसकी स्टेटस अभी नहीं मिल सका है।

तमिलनाडु के चेन्नई एयरपोर्ट पर भी विमानों की सेवा शुरू होने के बाद यात्रियों की लाइन लगी हुई देखी गई। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन कराया गया। चेन्नई में दिनभर में सिर्फ 25 यात्रियों को ही आने की इजाजत दी गई है। इसके अलावा मुंबई में भी सिर्फ 25 यात्री ही एक दिन में सफर कर सकेंगे।वहीं, दिल्ली एयरपोर्ट पर किसी भी संक्रमण की रोकथाम और कम से कम संपर्क में आने के लिए अलग-अलग प्रवेश गेट पर 24 स्कैन एंड फ्लाई मशीन लगाई गई हैं। इनसे आप अपने ई बोर्डिंग पास को स्कैन कर बोर्डिंग पास की स्लिप पा सकते हैं। मोबाइल से स्कैन कर भी यह स्लिप मिल सकेगी। इसके अलावा काउंटर पर भी बैगेज ड्राप की सुविधा है। जहां एसएमएस से भी बैगेज टैग दिया जाएगा। सामाजिक दूरी के नियम बताने के लिए जगह-जगह पोस्टर लगाए गए हैं।

इससे पहले केंद्र ने हवाईयात्रियों को क्वारंटाइन किए जाने के मुद्दे पर स्थिति स्पष्ट की थी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने गाइडलाइन जारी कर कहा कि राज्य यात्रियों को क्वारंटाइन करने के नियम खुद तय कर सकते हैं। मंत्रालय ने घरेलू उड़ानों, ट्रेन और बस यात्रा के लिए क्वारंटाइन गाइडलाइन जारी कर राज्यों और हवाई यात्रियों की मुश्किलें काफी हद तक दूर कर दीं। इसमें कहा गया है कि यात्रा की समाप्ति पर अगर यात्रियों में कोरोना के लक्षण मिलते हैं तभी उन्हें क्वारंटाइन किया जाए। लेकिन राज्य चाहें तो इसमें बदलाव कर स्वयं निर्णय ले सकते हैं किन्हें क्वारंटाइन करना है, किन्हें नहीं या फिर सभी यात्रियों को क्वारंटाइन करना है। राज्य सरकारें अपनी जरूरत के हिसाब से क्वारंटाइन और आइसोलेशन के प्रोटोकाल तय कर सकती है।

कोरोना के दौर में जिन यात्रियों का हवाई यात्रा करनी हैं, उन्हें कुछ बातों का अवश्य ध्यान रखना होगा…

-एयरपोर्ट पर दो घंटे पहले आना होगा, एयरपोर्ट आने से पूर्व वेब-चेक इन करना होगा और बोर्डिंग कार्ड का प्रिंट आउट भी लाना होगा.

– यात्रियों को केवल एक चेक इन बैगेज और एक रजिस्टर्ड बैगेज ले जाने की अनुमति होगी.

– यात्रियों को अनिवार्य रूप से फेस मास्क और हैंड ग्लब्स पहनना होगा.

– यात्रियों को अपने मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु ऐप रखना अनिवार्य होगा.

– एयरपोर्ट पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए मार्किंग की गयी है, उसे फॉलो करना होगा.

– एयरपोर्ट पर यात्रियों की किसी प्रकार की शारीरिक जांच नहीं की जायेगी. यात्रियों को पेयजल एवं आहार स्वयं ले कर आना होगा.

– एयरपोर्ट पर यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग टर्मिनल भवन के बाहर ही की जायेगी.

– यात्रियों के बैगेज को टर्मिनल के बाहर ही सेनिटाइज किया जायेगा.

– एयरपोर्ट पर ऑटोमैटिक सेनिटाइजर मशीनें लगायी गयी हैं, इनसे यात्रीगण स्वयं को सेनिटाइज करेंगे.

– यात्रियों के बोर्डिंग कार्ड और आइकार्ड को वेब कैम की सहायता से चेक किया जायेगा.

– सीआइएसएफ सुरक्षाकर्मी एक ट्रांसपेरेंट स्क्रीन के पीछे से यात्री को देख कर वेरिफिकेशन और जांच कार्य करेंगे.

– यात्री अपने रजिस्टर्ड बैगेज की स्क्रीनिंग करायेंगे व बैगेज को बैगेज ड्रॉप काउंटर पर छोड़ देंगे.

– बोर्डिंग की प्रक्रिया 10-10 के बैच में करायी जायेगी.

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.