Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

कानपुर शूटआउट के मोस्ट वॉन्टेड विकास दुबे जिसने बड़ी ही बेरहमी से 8 पुलिसकर्मियों को गोली मारकर हत्या कर दी थी, आज उसे उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर से गिरफ्तार कर लिया गया है। आपको बता दें सुबह 9 बजकर 55 मिनट पर विकास दुबे ने महाकालेश्वर मंदिर के सामने जोर- जोर अपना नाम चिल्लाया और बताया कि मैं विकास दुबे हूं। विकास दुबे ने पहले वहां पहुंचकर मंदिर में पूजा की और उपनी कुछ फोटो खिंचवाई, बताया जा रहा है कि विकास दुबे ने सरेंडर करने की सूचना स्थानीय मीडिया और पुलिस को दी थी. इसके बाद स्थानीय पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया है। मंदिर में विकास दुबे को वहां के गार्ड ने भी पहचान लिया था और उसने मौके पर ही पुलिस को सूचना दे दी थी।
वहीं गुरुवार की सुबह पुलिस ने दो एनकाउंटर किए हैं, एक कानपुर में और दूसरा इटावा में. इसमें विकास दुबे के दो साथियों को ढेर कर दिया गया है. बता दें कि इसके पहले पुलिस ने एक एनकाउंटर में विकास दूबे के मुख्य साथी अमर दूबे को हमीरपुर में मार गिराया था.

आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे को मंगलवार को दिल्ली से सटे हरियाणा के फरीदाबाद में एक होटल में देखा गया था. लेकिन जब तक पुलिस वहां पहुंची उससे पहले ही विकास दुबे वहां से फरार हो गया।

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने विकास दुबे की गिरफ्तारी को लेकर कहा कि “खबर आ रही है कि कानपुर-कांड का मुख्य अपराधी पुलिस की हिरासत में है। अगर ये सच है तो सरकार साफ करे कि ये आत्मसमर्पण है या गिरफ्तारी। साथ ही उसके मोबाइल की सीडीआर सार्वजनिक करे जिससे सच्ची मिलीभगत का भंडाफोड़ हो सके।”

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विकास दुबे की गिरफ्तारी को लेकर कहा कि “जिनको लगता है कि महाकाल की शरण में जाने से उनके पाप धुल जाएंगे उन्होंने महाकाल को जाना ही नहीं। हमारी सरकार किसी भी अपराधी को बख्शने वाली नहीं है।”

मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दुबे की गिरफ्तारी पर कहा कि “यह पुलिस की एक बड़ी कामयाबी है। विकास दुबे एक क्रूर हत्यारा है। मध्यप्रदेश पुलिस अलर्ट पर थी। उसे उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार किया गया है। हमने उत्तर प्रदेश पुलिस को सूचित कर दिया है।”

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.