होम ज़रा हटके अध्यात्म Vishwakarma Puja 2021: कन्या संक्रान्ति पर विश्वकर्मा पूजा का किया जाएगा आयोजन,...

Vishwakarma Puja 2021: कन्या संक्रान्ति पर विश्वकर्मा पूजा का किया जाएगा आयोजन, जाने शुभ मुहूर्त

Vishwakarma Puja 2021:पौराणिक काल में भगवान विश्वकर्मा को सिविल इंजीनियर कहा गया है। इस बार विश्वकर्मा पूजा 17 सितंबर को मनाई जा रही है। भगवान विश्वकर्मा की पूजा कन्या संक्रांति को होती है। इसी दिन भगवान विश्वकर्मा ने धरती पर जन्म लिया था। इस दिन को विश्वकर्मा पूजा और विश्वकर्मा जयंती भी कहते हैं। भगवान विश्वकर्मा का जिक्र 12 आदित्यों और लोकपालों के साथ ऋग्वेद में भी होता है।

पूजा का शुभ समय

Vishwakarma Puja 2021 2
वास्तुदेव की ‘अंगिरसी’ नामक पत्नी से विश्वकर्मा उत्पन्न हुए।

कन्या संक्रान्ति पर विश्वकर्मा पूजा का आयोजन किया जाएगा। संक्रान्ति का पुण्य काल 17 सितंबर, शुक्रवार को सुबह 6:07 बजे से 18 सितंबर, शनिवार को 3:36 बजे तक पूजन रहेगा। केवल राहुकल के समय पूजा निषिद्ध है। 17 सितंबर को राहुकाल सुबह 10:30 बजे से दोपहर 12 बजे तक रहेगा।

पौराणिक कथाओं से पता चलता है कि, प्राचीन काल में जितनी राजधानियां थी उनका निर्माण भगवान विश्वकर्मा ने ही किया था। ‘सुदामापुरी’ की तत्क्षण रचना के बारे में भी यह कहा जाता है कि उसके निर्माता विश्वकर्मा ही थे। वहीं सतयुग का ‘स्वर्ग लोक’, त्रेता युग की ‘लंका’, द्वापर की ‘द्वारिका’ या फिर कलयुग का ‘हस्तिनापुर’ निर्माण का श्रेय भी भगवान विश्वकर्मा को ही जाता है।

भगवान के हैं अनेकों रूप

भगवान विश्वकर्मा के अनेकों रूप हैं। उन्हें दो बाहु वाले, चार बाहु वाले, दस बाहु वाले, तथा एक मुख, चार मुख और पंचमुखी भी कहा जाता है। उनके मनु, मय शिल्पी, दैवज्ञ और त्वष्टा नाम के पांच संताने थी। यह भी कहा जाता है कि इन पांचों को वास्तु शिल्प की अलग अलग विधिओं में पारंगत हासिल थी। मनु को लोहा से, मय को लकड़ी से, त्वष्टा को कांस से, शिप्ली को ईंट से और दैवज्ञ को सोने -चांदी से जोड़ा जाता है।

एक कहानी में वाख्या की गई है कि, सृष्टि के प्रारंभ में सर्वप्रथम ‘नारायण’ अर्थात साक्षात भगवान विष्णु सागर में शेषशय्या पर प्रकट हुए। उनके नाभि-कमल से चर्तुमुख ब्रह्मा दृष्टिगोचर हो रहे थे। ब्रह्मा के पुत्र ‘धर्म’ तथा धर्म के पुत्र ‘वास्तुदेव’ हुए। कहा जाता है कि धर्म की ‘वस्तु’ नामक स्त्री से उत्पन्न ‘वास्तु’ सातवें पुत्र थे, जो शिल्पशास्त्र के आदि प्रवर्तक थे। उन्हीं वास्तुदेव की ‘अंगिरसी’ नामक पत्नी से विश्वकर्मा उत्पन्न हुए। पिता की भांति विश्वकर्मा भी वास्तुकला के अद्वितीय आचार्य बने।

यह भी पढ़ें:

सभी शिल्पकार भगवान विश्वकर्मा के हैं वंशज: भाजपा सांसद रामचंद्र जांगड़ा

ये पांच हिमालय हैं रहस्य से भरपूर, देवता, एलियन और आदिमानव करते हैं वास

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Bigg Boss 15: Gauahar Khan ने Karan Kundra और तेजस्वी प्रकाश की खिंचाई की, कहा- जो पॉपुलर हैं उनके लिए कोई rules नहीं

Bigg Boss 15: अभिनेत्री गौहर खान (Gauahar Khan) ने गुरुवार को कहा कि वह हाल ही में बिग बॉस 15 के घर के अंदर हुई घटनाओं से हैरान हैं। उन्होंने प्रतियोगियों करण कुंद्रा (Karan Kundra) और तेजस्वी प्रकाश (Tejasswi Prakash) को जमकर फटकार लगाई बता दें कि एक एपिसोड में एक टास्क के दौरान करण के गुस्सा होने के बाद उनका यह रिएक्शन आया है। उन्होंने प्रतीक सहजपाल को गले से पकड़कर जमीन पर पटक दिया था।

Gold Price Today : Festive Season में सोने की कीमतों में आई गिरावट, इतने घटे दाम

Gold Price Today : भारत में सोने की कीमत आज 200 रुपये प्रति 100 ग्राम कम हो गई, वहीं अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमती धातु की दर बढ़ गई है।

Petrol- Diesel Price Today : जानें क्‍या है आपके शहर में Petrol – Diesel का नया रेट

पेट्रोल और डीजल की कीमतों में शुक्रवार को फिर से तेजी आई है और देश भर में एक और रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया है। दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 106.89 रुपये प्रति लीटर है, जिसमें कि 35 पैसे की बढ़त हुई है, जबकि डीजल की दर 35 पैसे बढ़कर 95.62 रुपये प्रति लीटर है।

Varun Gandhi का योगी सरकार पर हमला, बोले- अगर सब कुछ जनता को खुद ही करना है तो फिर सरकार की जरूरत क्या है?

वरुण गांधी मुखर होकर योगी सरकार को कटघरे में खड़ा कर रहे हैं। इसी क्रम में वरुण ने एक बार फिर से योगी सरकार पर करारा हमला किया है। वरुण ने यूपी सरकार पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि अगर सब कुछ जनता को खुद ही करना है तो फिर सरकार की जरूरत क्या है?