होम Legal News West Bengal Riots: हाई कोर्ट के फैसले पर 20 सितंबर को सुनवाई...

West Bengal Riots: हाई कोर्ट के फैसले पर 20 सितंबर को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट, HC ने CBI जांच का दिया था आदेश

पश्चिम बंगाल (West Bengal) में चुनाव के बाद हुई हिंसा की जांच को कलकत्ता हाई कोर्ट (Calcutta High Court) के आदेश को चुनौती देने के मामले पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में 20 सितंबर को सुनवाई होगी। हाई कोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई है।

ममता बनर्जी को नहीं है न्याय पर भरोसा

दरअसल ममता सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में कलकत्ता हाई कोर्ट के आदेश को चुनौती देते हुए दाखिल याचिका में कहा है कि उसे पश्चिम बंगाल हिंसा मामले में CBI से निष्पक्ष जांच की उम्मीद नहीं है क्योंकि CBI केंद्र के इशारे पर काम कर रही है। CBI लगातार TMC के पदाधिकारियों के खिलाफ मामले दर्ज करने में लगी हुई है।

यह पहली बार नहीं है जब ममता बनर्जी ने कहा है कि उन्हें कोर्ट के न्याय पर भरोसा नहीं है इससे पहले वह कलकत्ता हाई कोर्ट के जज कौशिक चंद पर बीजेपी के साथ मिलकर काम करने का आरोप लगा चुकी हैं।

इसी बयान पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर कलकत्ता हाई कोर्ट के जज कौशिक चंद ने 5 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया था। ममता सरकार द्वारा खुद पर लगाए आरोपों को निराधार पाने के बाद कौशिक ने ममता पर जुर्माना लगाने का फैसला किया था।

हिंसा में 12 लोगों की हुई थी मौत

बता दें कि पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के बाद 3 मई को बड़े पैमाने पर हिंसा हुई थी। इसमें 12 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी। कई रिपोर्ट ने दावा किया था कि, हिंसा में बच्चियों और महिलाओं के साथ बलात्कार भी हुआ था।

जघन्य अपराध को देखते हुए राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (National Human Rights Commission) (NHRC) ने हाई कोर्ट में याचिका दाखिल कर हिंसा की सीबीआई जांच कराने की मांग की थी। हाई कोर्ट ने याचिका 19 अगस्त को स्वीकार कर सीबीआई जांच का आदेश दे दिया था लेकिन अब मामले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई है जिसपर 20 सितंबर को सुनवाई होने वाली है।

हिंसा के बाद पलायन की खबरें

बता दें कि, इस हिंसा के बाद बीजेपी और टीएमसी ने आरोप प्रत्यारोप का खेल शुरू कर दिया था। बीजेपी ने दावा किया था कि उसके 6 कार्यकर्ताओं को टीएमसी ने मौत के घाट उतार दिया था। वहीं हिंसा के बाद राज्य से पलायन की खबरें भी सामने आरही थी।

इसके अलावा चुनाव में हिंसा से जुड़े अन्य मामलो के लिए SIT के गठन करने का भी आदेश दिया था।

गौरतलब है कि, चुनाव के बाद राज्य में हुई हिंसा को लेकर एसआईटी से जांच कराने की मांग की गई थी, इसी सिलसिले में कोर्ट में याचिका भी दायर की गई थी जिसमें बताया गया था कि लोगों में डर का माहौल है। लोग राज्य को छोड़ दूसरी जगह जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें:

कलकत्ता हाई कोर्ट के जज ने ममता बनर्जी पर लगाया 5 लाख का जुर्माना, दीदी ने न्यायमूर्ति को बताया था धोखेबाज

पश्चिम बंगाल में हिंसा के बाद पलायन पर सुप्रीम कोर्ट हुआ सख्त, केंद्र और ममता सरकार से मांगा जवाब

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Raghav Chadha ने Navjot Singh Sidhu को पंजाब की राजनीति की राखी सावंत कहा, हुए Troll

अगले साल 5 राज्‍यों में विधानसभा के चुनाव होने वाले है। 5 राज्‍यों में एक प्रमुख राज्‍य पंजाब भी है। इसलिए यहा पर भी राजनीतिक सरगर्मी तेज है। सभी पार्टियां किसानों के मुद्दे पर एक दूसरे पर हमलावर है। आज आम आदमी पार्टी (AAP) के पंजाब सह प्रभारी और दिल्ली के विधायक Raghav Chadha ने नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) को पंजाब की राजनीति की राखी सावंत (Rakhi Sawant) कह दिया है।

Allahabad High Court बार एसोसिएशन से आयकर वसूली मामले में आयकर विभाग को पुन: विचार करने का दिया आदेश

Allahabad High Court ने 40 लाख रुपये के आयकर वसूली मामले में इलाहाबाद उच्च न्यायालय बार एसोसिएशन से दायर याचिकाओं को आयकर...

Padmanabhaswamy temple के खातों के ऑडिट मामले में Supreme Court ने फैसला रखा सुरक्षित

श्री पद्मनाभ स्वामी नारायण मंदिर के खातों के ऑडिट मामले में सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है। आज वरिष्ठ वकील अरविंद दातार ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का आदेश ट्रस्ट के लिए नही बल्कि केवल मंदिर के ऑडिट के लिए पारित किया गया था।

महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री Anil Deshmukh के ठिकानों पर Income Tax Department का छापा

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (Nationalist Congress Party) के नेता और महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री Anil Deshmukh की मुसीबतें और बढ़ती जा रही है। केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) और प्रवर्तन निदेशालय (ED) के बाद अब आयकर विभाग (Income Tax Department) ने शुक्रवार को उनसे जुड़ी परिसरों की तलाशी ली।