भारत के पूर्व बेहतरीन ऑलराउंडर खिलाड़ी युवराज सिंह को भला कौन नहीं जानता होगा। अपने लंबे छक्कों के लिए विख्यात इस बल्लेबाज ने टी 20 और 50 ओवरों के विश्वकप को जिताने में अहम भूमिका निभाई है। आपको बता दें की युवराज सिंह ने बताया है कि कौन सा भारतीय क्रिकेटर ले सकता है टीम में उनका अवतार और किस खिलाड़ी में उनको अपनी झलक दिखाई देती है।

युवराज सिंह ने भारतीय टीम को दो बार विश्व चैंपियन का खिताब दिलाया है। साल 2007 और 2011 का वर्ल्ड कप को जिताने में युवराज सिंह की अहम भूमिका रही है। युवराज सिंह इन दोनों ही वर्ल्ड कप में ‘मैन ऑफ द टूर्नामेंट’ रहे हैं। युवराज सिंह ने अपनी एक भविष्यवाणी की है, और बताया कि कौन हो सकता है भारत का अगला युवराज सिंह। उनके मुताबिक हार्दिक पांड्या, रविंद्र जडेजा और ऋषभ पंत वो कर सकते हैं, जो खुद युवी ने 2007 टी-20 वर्ल्ड कप और 2011 वनडे वर्ल्ड कप में कमाल किया था। साथ ही युवराज का कहना है कि रवींद्र जडेजा, हार्दिक पांड्या और ऋषभ पंत की तिकड़ी इंटरनेशनल क्रिकेट में धमाल मचा सकती है।

युवराज सिंह ने मीडिया से बात चीत के दौरान बताया कि ‘हमारे पास कुछ अच्छे हिटर भी हैं। हमारे पास ऋषभ पंत हैं, हमारे पास हार्दिक पांड्या हैं। हमे लगता है कि ऋषभ पंत और हार्दिक पांड्या साथ में ज्यादा से ज्यादा वनडे और टी-20 खेल रहे हैं, साथ में बल्लेबाजी करते हुए भी ये काफी शानदार और दमदार जोड़ी है।


युवराज सिंह ने कहा कि टीम के पास जडेजा हैं। रवींद्र जडेजा, हार्दिक पांड्या और ऋषभ पंत कभी भी मैच का मुंह मोड़ सकते हैं। जडेजा ने वनडे और टी-20 क्रिकेट में काफी सुधार किया है, लेफ्ट राइट कॉम्बिनेशन हमेशा खतरनाक साबित होता है। जैसा कि टीम में हम और धोनी थे, इसलिए मैं ऋषभ, हार्दिक और जडेजा को 5, 6 और 7 स्लॉट पर बल्लेबाजी करते हुए देखना चाहता हुं।

युवराज सिंह ने और कहा की ‘मैं ऋषभ पंत को भविष्य में भारतीय कप्तान के रूप में भी देखता हूं। क्योंकि वह उछल-कूद करने वाला, चुलबुला और खिलाड़ियों से बात करने में माहिर है, लेकिन मुझे लगता है कि उसके पास एक स्मार्ट दिमाग है। युवराज सिंह ने कहा की मै ‘ऋषभ पंत को दिल्ली कैपिटल्स की कप्तानी करते हुए देखा है। इसलिए आने वाले समय में वह भारतीय टीम के अगले कप्तान बन सकते हैं। ऋषभ पंत में कप्तान बनने की सारी काबिलियत मौजूद हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here