दुनिया भर में 29 सितंबर को वर्ल्ड हार्ट डे के रूप में मनाया जाता है। वर्ल्ड हार्ट डे मनाने के पीछे का उद्देशय है कि लोगों को उनके दिल की सेहत के प्रति जागरूक किया जा सके। इस नेक काम की शुरूवात 2000 में हुई थी।

भारत में आज हर पांचवा शख्स दिल की बीमारी से पीड़ित है। वहीं वर्ल्ड हार्ट फेडरेशन की माने तो दिल की ग्रसित बीमारियों से हर साल करीब 18 मिलियन मरीजों की मौत होती है।

दिल से ग्रसित बीमार व्यक्ति के लिए कोरोना काल बन कर आया है। इन बुरे हालातों में दिल को कैसे रखे स्वस्थ इस बारे में हम आप को आज कुछ फार्मूला बताएंगे।

सिगरेट तंबाकू से रहे दूर

तंबाकू और सिगरेट का जब को कोई व्यक्ति इस्तेमाल करता है तो दिल की धड़कन बढ़ जाती है। सिगरेट या अन्य तंबाकू उत्पादों में करीब चार हजार तरह के केमिकल्स होते हैं। जैसे कि कार्बन मोनोऑक्साइड और टार जैसे जहरीले पदार्थ शरीर के भीतरी अंगों को बहुत हद तक नुकसान पहुंचात हैं। सिगरेट तंबाकू के सेवन से हार्ट अटैक, आर्टरी ब्लॉकेज जैसी बीमारियां होती हैं।

शराब को कहे अलविदा

उच्च रक्तचाप वाले लोगों के लिए शराब का नियमित सेवन विशेष रूप से हानिकारक है क्योंकि यह रक्तचाप बढ़ा सकता है। महिलाओं द्वारा चार या अधिक पेय और 2 घंटे में पुरुषों द्वारा पांच या उससे अधिक पीने से दिल की हाट रिदम अनियमित हो सकती है। शराब का नियमित सेवन या बहुत अधिक शराब पीने से ट्राइग्लिसराइड्स का स्तर बढ़ सकता है. ट्राइग्लिसराइड्स का उच्च स्तर एलडीएल या खराब कोलेस्ट्रॉल के उच्च स्तर के साथ संयुक्त होता है। यह दिल का दौरा और स्ट्रोक का खतरा बढ़ा सकता है।

शरीर के वजन को करे कम

दिल के आकार के बढ़ जाने से हृदयाघात या फिर स्ट्रोक संबंधी बीमारी का खतरा बना रहता है। एक अध्ययन में पाया गया है कि वजन बढ़ने से दिल आठ ग्राम तक भारी हो जाता है जबकि उसके आकार में पांच प्रतिशत तक की वृद्धि हो जाती है। एक बड़े और भारी दिल का सीधा असर धकड़नों पर पड़ता है, जिससे दिल का दौरा पड़ने का जोखिम बना रहता है।

नमक – चीनी का सेवन करे कम

दिल को खुश रखना है तो नमक – चीनी का अधिक सेवन करने से बचे इससे मधुमेह का रोग होता है और नमक का अधिक सेवन करने से आयरन की कमी हो जाती है। दोनों ही चीजें दिल को नुकसान पहुंचाती हैं।

टेंशन फ्री रहे

कहते हैं कि चिंता व्यक्ति को चीता तक लेकर जाता है। चिंता करने से इसका सीधा असर दिल पर ही पड़ता है। दिल को नुकसान होने का मतलब है कि आप अपने जीवन को नुकसान पहुंचा रहे हैं। अधिक टेंशन लेने से हार्ट अटैक जैसी बीमारी हो सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here