Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

आतंकवाद के मुद्दे पर हमेशा पाकिस्तान के समर्थन में रहा चीन अब खुद आतंकवाद की धमकियों से परेशान नजर आ रहा है। भारत के आतंकवादियों पर प्रतिबंध के प्रयासों में चीन अक्सर रोड़ा बन कर पाकिस्तान के साथ हाफ़िज़ सईद और मसूद अज़हर जैसों का बचाव करता रहा है लेकिन चीन में इस्लाम से ताल्लुक रखने वाले उइगर आतंकवादियों से अब वो खुद घिरता नज़र आ रहा है।

चीन में इस्लाम धर्म मानने वाले उइगर, चीन में अल्पसंख्यक हैं। चीन की दमनकारी नीतियों से परेशान होकर इस्लामिक स्टेट का दामन थाम चुके हैं। इस समुदाय पर चीन ने प्रतिबंध लगाया था जिसके बाद इसके लोग इस्लामिक स्टेट में शामिल हो गए। अब इराक से एक आधे घंटे का विडियो जारी कर इसी संगठन ने चीन में खून की नदियाँ बहाने की धमकी दी है अपने वापस लौटने की घोषणा के साथ उन्होंने चीन को बर्बाद करने की बात भी कही है

ISIS threaten China

चीन की सरकार पर इससे पहले भी दमन और अत्याचार करने के आरोप लगते रहे हैं। उइगर मुस्लिम समुदाय भी आरोप लगाता रहा है कि चीन उनके साथ भेदभाव करता है। उनका सांस्कृतिक और धार्मिक तौर पर दमन करता है। इस विडियो के आने के बाद एक न्यूज़ एजेंसी को दिए इंटरव्यू में ऑस्ट्रेलियन नैशनल यूनिवर्सिटी के नैशनल सिक्यॉरिटी कॉलेज में जिनजियांग मामलों के

विशेषज्ञ डॉक्टर माइकल क्लार्क ने को बताया कि ऐसा लगता है कि इस्लामिक स्टेट  ने पहली बार सीधे-सीधे चीन को धमकी दी है। उन्होंने आगे कहा, ‘पहली बार उइगर-भाषी उग्रवादियों ने आइएस  में शामिल होने की बात स्वीकार की है। चीन के लिए यह खतरे की घंटी के साथ उइगर लड़ाकों में संभावित टूट का इशारा भी हो सकता है। जिसमें सीरिया में अल कायदा से जुड़े तुर्किस्तान इस्लामिक पार्टी (TIP) के लिए लड़ रहे लड़ाकों को भी चेतावनी देना शामिल है।

इस विडियो के आने के बाद चीन के विदेश विभाग के प्रवक्ता ने कहा कि हमने अभी तक यह विडियो नहीं देखा है। हालांकि उन्होंने उइगर आतंकियों की ओर इशारा करते हुए माना कि ईस्ट तुर्किस्तान आतंकी ताकतें चीन की सुरक्षा के लिए गंभीर खतरे के रूप में उभरी हैं। उन्होंने इस तरह की आतंकी ताकतों के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय सहयोग का आह्वान किया है। अपने ऊपर संभावित खतरे को देख कर चीन अब विश्व भर के देशों से एक होने की बात कर रहा है लेकिन अब तक वह भारत के आतंकवाद के खिलाफ अभियानों में राह का रोड़ा बना हुआ था। अब देखना है इस खतरे के बाद चीन अपनी रणनीति में बदलाव कर भारत का साथ देता है या पहले की तरह पाकिस्तान और आतंकवाद का समर्थन करता है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.