Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

पाकिस्तान में इस समय काफी राजनैतिक और सामाजिक ऊथल-पुथल देखने को मिल रहा है। इस समय जहां पनामा पेपर्स मामले में फंसे पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ का कहना है कि पाकिस्तान की स्थिति सही नहीं चल रही और अगर ऐसा ही चलता रहा तो 1971 का तरह ही पाकिस्तान फिर विभाजित होने की कगार पर होगा। वहीं देश में  बढ़ती जनसंख्या पाकिस्तान के लिए दिक्कत का सबब बन रही है। सबसे बड़ी दिक्कत पाकिस्तान के लिए ये है कि हिजड़ों की जनसंख्या में बड़ा इजाफा देखने को मिला है। ऐसे में पाकिस्तान इस समय बाह्य ही नहीं आंतरिक समस्याओं से भी जूझ रहा है।

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने उनको अयोग्य घोषित किये जाने को लेकर उच्चतम न्यायालय पर निशाना साधते हुए कहा कि जनादेश का सम्मान नहीं किया गया तो देश को 1971 की तरह ‘विभाजन’ का सामना करना पड़ सकता है। पू्र्व प्रधानमंत्री ने यह आशंका लाहौर हाईकोर्ट के उस फैसले के एक दिन बाद जताई है, जिसमें शरीफ और उनके पार्टी कार्यकर्ताओं की ओर से न्यायपालिका विरोधी टिप्पणियों के प्रसारण पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। वकीलों के सम्मेलन में शरीफ ने शुक्रवार को कहा कि उनको अयोग्य ठहराये जाने वाला उच्चतम न्यायालय के 28 जुलाई के फैसले से लोग सहमत नहीं है। उन्होंने कहा कि देश के इतिहास में पहली बार आइएसआइ और मिलिट्री इंटेलीजेंस के प्रतिनिधियों को ऐसे मामले की जांच के लिए ज्वाइंट इंवेस्टीगेशन एजेंसी का हिस्सा बनाया गया जो न तो आतंकवाद से जुड़ा था और न ही उसका राष्ट्रीय सुरक्षा से कोई लेना-देना था। शरीफ ने न्यायालय द्वारा दिए गए फैसले को अन्यायपूर्ण बताया और कहा कि देश के 70 साल के इतिहास में 18 प्रधानमंत्रियों को कार्यकाल पूरा करने से पहले ही घर भेज दिया गया। पूर्व पीएम ने कहा कि पाकिस्तान की स्थिति वैश्विक बहिष्कार वाली हो सकती है। ऐसे हालात में देश फिर विभाजित हो सकता है। लोकतंत्र के लिए मेरी लड़ाई जारी रहेगी। उन्होंने पाकिस्तान की अमेरिका से बढ़ती दूरी और चीन से बढ़ती नजदीकी को भी उचित नहीं बताया है और इसपर चिंता जाहिर की है। इस बंटवारे में बलूचिस्तान की भूमिका को उन्होंने अहम् माना है।

पाकिस्तान में बड़ी तेजी से बढ़ रही जनसंख्या, हिजड़ो की तादाद दस हजार के पार

पाकिस्तान की आबादी वर्ष 1998 में हुई पिछली जनगणना के मुकाबले 57 फीसदी बढ़कर 20.78 करोड़ हो गई है। यह जानकारी जारी जनगणना के अस्थायी आंकड़ों में दी गई।  इनमें 10.645 करोड़ पुरुष, 10.131 करोड़ महिलाएं शामिल हैं। 19 वर्षों के भीतर देश की आबादी में 7.54 करोड़ की वृद्धि हुई है। वहीं हिजड़ों की तादाद में भी अकसमात् वृद्धि दर्ज की गई  है। शुक्रवार को पाकिस्तान में जारी जनगणना के आंकड़ों के मुताबिक पाकिस्तान में हिजड़ों की तादाद दस हजार चार सौ अठारह पहुंच गई है। इनमें से लगभग पैंसठ फीसदी पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में रहते हैं। कुल हिजड़ों की तादाद में 6709 पंजाब के अलग अलग कस्बों के हैं। पाक पीएम शाहिद खाकान अब्बासी की अध्यक्षता वाली संस्था काउंसिल ऑफ कॉमन इंटरेस्ट (सीसीआई) को सौंपे गए अस्थायी आंकड़ों के मुताबिक 1998 में हुई पांचवीं जनगणना की तुलना में वर्तमान जनसंख्या 2.4 फीसदी की सालाना दर से बढ़ी है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.