Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

आतंकवाद से आज पूरा विश्व जूझ रहा है। इस पर प्रतिबंध लगाने के लिए सभी देश आगे तो आते हैं लेकिन आतंकवादी संगठनों में आपसी रजामंदी न होने के कारण पूरा विश्व इस पर पूर्ण रूप से एकत्रित नहीं हो पाता। जबकि पीएम मोदी भी कई बार विश्व सम्मेलनों में यह बात कह चुके हैं कि आतंकवाद का कोई चेहरा नहीं होता। इस बार फिर आतंकवाद का नृशंस चेहरा देखने को मिला जिसमें अफगानिस्तान की राजधानी काबुल दहल उठा। काबुल में शनिवार को एक भीषण बम विस्फोट में कम से कम 95 लोगों की मौत हो गई, जबकि 160 से अधिक लोग घायल हो गए।

देश के स्वास्थ्य मंत्री ने इस हमले में कम से कम 75 लोगों के घायल होने की पुष्टि की है। तालिबान ने इस हमले की जिम्‍मेदारी ली है। बताया जा रहा है कि यह धमाका अतिसुरक्षा वाले इलाके में हुआ, जहां पर बड़ी संख्या में विदेशी दूतावास और सरकारी दफ्तर मौजूद हैं। सुरक्षा बलों ने एहतियाती कदम के रूप में इलाके को घेर लिया है। सांसद मीरवाइज यासिनी ने यह ब्लास्ट अपनी आंखों से देखा। उन्होंने बताया कि पुलिस चेकप्वॉइंट के पास खड़ी एक एंबुलेंस में जोरदार बम धमाका हुआ। उन्होंने बताया कि धमाके के बाद उन्होंने कई लोगों को जमीन पर पड़ा पाया। पब्लिक हेल्थ मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया कि घायलों को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया है।

यह धमाका भारतीय दूतावास के नजदीक हुआ। अफगानिस्तान में भारत के राजदूत मनप्रीत वोहरा ने सभी भारतीय नागरिकों के सुरक्षित होने की जानकारी दी है।  चश्मदीदों का कहना है कि जब शनिवार को स्थानीय समयानुसार दोपहर 12.15 बजे बम विस्फोट हुआ तब उस जगह पर लोगों की काफ़ी भीड़ थी। शहर के चारों ओर धुआं देखा जा सकता था. अधिकारियों ने कहा है मृतकों की संख्या बढ़ सकती है. कई गंभीर रूप से घायलों को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.