Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

मिस्र का उत्तरी सिनाई इलाका एक आतंकवादी हमले से दहल उठा है।  हमलावरों ने उत्तरी सिनाई क्षेत्र के एक मस्जिद को निशाना बनाया है । अब तक के सबसे भीषण बताए जाने वाले इस आतंकी हमले में 235 लोग मारे गए हैं, जबकि 109 अन्य घायल हैं। मिस्र के राष्ट्रपति अब्दुल फतह अल-सीसी ने हमले का बदला लेने का संकल्प लिया है। उन्होंने कहा कि सेना और पुलिस हमारे शहीदों का बदला लेगी।

बता दें कि हमले के वक्त मस्जिद में जुमे की नमाज के लिए बड़ी तादाद में लोग मौजूद थे। आतंकियों ने पहले आइईडी (इंप्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस) से धमाका किया और उसके बाद ताबड़तोड़ गोलियां बरसानी शुरू कर दी। घटनास्थल पर दर्जनों लोगों के चीथड़े को उड़ते देखा गया। मरने वालों की संख्या और बढ़ने की आशंका जताई जा रही है। घायलों को अस्पताल ले जाने के लिए करीब 50 एंबुलेंस को मौके पर भेजा गया।

इतना ही नहीं मीडिया रिपोर्ट की मानें तो मस्जिद के बाहर चार वाहनों में आतंकी पहले से ही मौजूद थे। उन्होंने धमाके के बाद मस्जिद से बचने के लिए बाहर भाग रहे श्रद्धालुओं पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाई। मस्जिद भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई है।

हालांकि अभी तक किसी आतंकी गुट ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। ऐसे में माना जा रहा है कि शायद हमले के पीछे ISIS का हाथ है क्योंकि जहां यह हमला हुआ है वो सूफी मस्जिद है। ऐसी मस्जिदों को ISIS अपने खिलाफ मानता है। अभी स्थानीय पुलिस और सरकारी एजेंसियां जांच कर रही हैं कि इस हमले के पीछे किसका हाथ है और कौन सा आतंकी संगठन इसमें शामिल है।

इस हमले के बाद अब मिस्र के राष्ट्रपति अब्दुल फतह अल-सीसी ने हमले का बदला लेने का संकल्प लिया है। राष्ट्रपति ने कहा कि लोग अब और अधिक मजबूती के साथ आतंकवाद से टक्कर लेंगे। उन्होंने मारे गए लोगों और जख्मी लोगों के साथ संवेदना प्रकट की और कहा कि आने वाले वक्त में सुरक्षा के लिए पूरा जोर लगाया जाएगा।

हमले के बाद पूरी दुनिया में शोक की लहर है। अमेरिका और भारत समेत दुनिया भर के नेताओं ने इस घटना की निंदा करते हुए शोक व्यक्त किया है। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया, मिस्र में हुए आतंकी हमले की हम कड़ी निंदा करते हैं हमले में मारे गए सभी निर्दोष लोगों के प्रति हमारी गहरी संवेदना है। भारत हमेशा हर तरह के आतंकवाद के खिलाफ खड़ा रहेगा और मिस्र की सरकार का साथ देगा।

वहीं देश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट किया, मैंने अभी मिस्र के विदेश मंत्री से बात की है और हमारे प्रधानमंत्री ने भी आतंकी हमले पर गहरा दुख व्‍यक्‍त किया है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने भी ट्वीट किया, “ मिस्र के राष्ट्रपति को कॉल करूंगा और इस घटना के बारे में जानकारी लूंगा। हमें पहले से भी अधिक मजबूत और तेज बनना पड़ेगा और हम ये करेंगे। दीवार की जरूरत है, बैन की जरूरत है। ईश्वर मिस्र के लोगों के साथ है।”

गौरतलब है कि आतंकी हमले के बाद मिस्र में तीन दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित कर दिया गया है।राष्ट्रपति अब्देल फतह अल-सीसी ने आपात बैठक कर सुरक्षा हालात की समीक्षा की है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.