उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय में राज्य का प्रतिनिधित्व करने के लिए वकील शरण देव सिंह ठाकुर को अपना Additional Advocate General  (अतिरिक्त महाधिवक्ता) नियुक्त किया है।

शरण देव सिंह ठाकुर भारत के पूर्व मुख्य न्यायाधीश टीएस ठाकुर के बेटे और जम्मू-कश्मीर के उपमुख्य मंत्री श्री डीडी ठाकुर के पौत्र हैं। शरण देव सिंह ठाकुर उत्तर प्रदेश राज्य के इतिहास में Additional Advocate General (AAG) के पद को संभालने वाले लोगों में अभी तक सबसे कम उम्र के अतिरिक्त महाधिवक्ता बनेंगे। उन्होंने बैंगलोर विश्वविद्यालय से कानून स्नातक की पढ़ाई पूरी की है और ब्रिटेन के वार्विक विश्वविद्यालय से आगे का अध्ययन करते हुए एलएलएम (LLM) किया है।

शरण देव सिंह ठाकुर से पहले राज्य के अतिरिक्त महाधिवक्ता ऐश्वर्या भट्टी थे, जिन्हें हाल ही में भारत संघ का प्रतिनिधित्व करने के लिए सुप्रीम कोर्ट में अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल के रूप में नियुक्त किया गया है।

शरण देव सिंह ठाकुर जो कि वास्तविकता की जमीन से जुड़े वकील माने जाते हैं। उन्हें वातानुकुलित कमरों से निकल आम जनता के बीच पहुंच उनकी परेशानियों का समाधान करते अक्सर देखा जाता है। शरण देव सिंह ठाकुर के राज्य सरकार के द्वारा अतिरिक्त महाधिवक्ता बनाए जाने से इतना तो तय है कि सर्वोच्च न्यायलय में राज्य सरकार की जन हित नीतियों का पक्ष सशक्त और तार्किक तरीके से रखा जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here