Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

उत्तर प्रदेश के कैराना लोकसभा सीट के लिए हो रहे उपचुनाव के प्रचार प्रसार की जिम्मेदारी खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संभाली हुई है। मंगलवार को प्रचार करने के लिए सहारनपुर करने पहुंचे योगी आदित्यनाथ के यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री पर करारा हमला बोला। अखिलेश यादव को चुनौती देते हुए सीएम योगी ने कहा, कि अखिलेश यादव में दम है तो यहां चुनाव प्रचार करके दिखाए। योगी ने कहा, उनमें हिम्मत नहीं है कि वह यहां आकर चुनाव प्रचार करें, क्योंकि उनके हाथ मुजफ्फरनगर दंगों के खून से सने हैं। बता दें, कि अम्बेहटा पीर सहारनपुर जिले के गंगोह विधानसभा क्षेत्र में आता है जो कैराना लोकसभा क्षेत्र का हिस्सा है।

सहारनपुर के अंबेहटा पीर में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने  कहा, कि वह सिर्फ पश्चिमी यूपी के लोगों में अंधविश्वास फैलाने का काम कर सकते हैं लेकिन विकास के कामों को लेकर विश्वास नहीं पैदा कर सकते। पहले यहां पलायन होता था, लेकिन अब यहां पलायन नहीं निवेश होगा। क्योंकि हम यहां के 3 लाख लोगों को नौकरी देने जा रहे हैं। हमने एक साल में यूपी में निवेश को बढ़ावा दिया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आगे कहा, कि जातिवाद, मजहब और तुष्ठीकरण की राजनीति विकास के रास्ते का बाधा नहीं बन सकती है। बीजेपी की जीत का मतलब है सुरक्षा की जीत और विकास की जीत। हमारी सरकार चीनी मिलों को फिर से शुरू कर रही है। उन्होंने कहा कि बीजेपी यूपी को डार्क जोन से मुक्त करने जा रही है। विकास का कोई विकल्प नहीं होता है। पिछली सरकारों ने जाति और धर्म के नाम पर लोगों को बांटा था। बीजेपी सबको साथ लेकर चलती है।

बता दें, कि कैराना लोकसभा सीट और नूरपुर विधानसभा सीट पर 28 मई को वोटिंग और 31 मई को मतगणना होगी। यह चुनाव बीजेपी सांसद हुकुम सिंह के फरवरी में निधन के बाद कैराना सीट खाली होने के कारण कराए जा रहे हैं। बीजेपी ने कैराना में हुकुम सिंह की बेटी मृगांका सिंह को प्रत्याशी बनाया है।

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.